Monthly Archives: November, 2013

प्रेषक : कम्मो कितनी सुहावनी रात थी वो जिस दिन मैंने सुहागरात मनाई थी . पहले तो आया मेरे हाथ में मेरे शौहर का लौड़ा. मैंने खूब मजे से चुदवाया फिर अचानक मेरे हाथ में एक टन टनाता हुआ नया लण्ड आ गया . मैंने जब उसका चेहरा देखा तो वह मेरा नंदोई .था   .उसने खड़ा लण्ड चुपके से…

प्रेषक : रोहन हेल्लो दोस्तों में अपनी कहानी स्टार्ट करता हूँ… में पिछले साल मुबई से ट्रान्स्फर होकर न्यू दिल्ली गया था. कंपनी मे काम का लोड ज्यादा था तो काम मुझे 8 pm तक करना पड़ता था. मेरे फ्रेंड्स मुझे कहते थे की रोहन इतना काम मत किया कर. क्यो की में एक शरीफ आदमी था. तो लोग मुझे…

प्रेषक : प्रदीप समीर एक कॉलेज मे प्रोफेसर था उम्र 31साल स्मार्ट था. शादी को 2 साल हुए थे पर उसकी बीवी ज़्यादा खूबसूरत नही थी. इसलिय कॉलेज की कमसिन लड़कियो की जवानी लूटने की उसकी फॅंटेसी थी. कोमल फाइनल इयर मे पढ़ने वाली एक खूबसूरत लड़की थी. जो लास्ट 2 साल से कॉलेज का ब्यूटी कॉंपिटेशन जीतती आ रही…

प्रेषक : निशा निशा, मेघना और  नेहा तीनो एक ही कॉलेज में एक ही क्लास में पढ़ती है . तीनो आपस में गहरी दोस्त है . एक दूसरे के साथ हमेशा रहती है . तीनो कॉलेज में बड़ी मशहूर है पढने में भी और शैतानी करने में भी .तीनो अपनी खूबसूरती और बड़ी बड़ी चूंचियों वाली के नाम से भी…

प्रेषक : गुमनाम “चुदाई हो तो ऐसी 2” से आगे की कहानी . . . आखिर जब सुषमा ने उसे छोड़ा तो विनिता का चेहरा लाल हो गया थी. “क्या भाभी, तुम बड़ी हरामी हो, जान बूझ कर ऐसा करती हो.” सुषमा उसका मुंह चूमते हुए हंस कर बोली. “तो क्या हुआ रानी? तेरा मुखरस चूसने का यह सबसे आसान…

प्रेषक : राज हेल्लो दोस्तो मेरा नाम राज हे ओर में आज आपको अपनी ओर अपनी भाभी की कहानी बताने जा रहा हूँ जिसमे मेने उन्हे नींद की गोली खिलाकर चोदा ओर ये मेरी पहली चुदाई का अनुभव था. मेरी भाभी का नाम पूनम था जो दिखने मे एकदम गोरा बदन था उनके फिगर के बारे मे तो में आपको…

प्रेषक : गबरू माँ बेटियों की एक साथ चुदाई 3 से आगे की कहानी  . . . रीना बोली-“हाँ माँ, पर अब ये मुझे छोड़े तब ना…इतना गन्दा हैं कि मेरा बदन चाट रहे हैं।” मैंने जोर से कहा, “बदन नहीं बिन्दा, आपकी बेटी की चूत चाट रहा हूँ….आप चाय बनवा कर यहीं दे दीजिए….तब तक मैं एक बार इसको…

प्रेषक : गबरू माँ बेटियों की एक साथ चुदाई 2 से आगे की कहानी  . . . अब तक मैंने कपड़े बदल लिए और बाहर निकल गया, कुछ समय बाद रागिनी अपने साथ रीना को ले कर बाहर आई। बिन्दा ने एक नजर रीना को देखा, और फ़िर झट से कहा, “जाओ, अब नहा-धो कर साफ़-सुथरी हो जाओ, मंदिर चलना…

प्रेषक : गबरू माँ बेटियों की एक साथ चुदाई 1″ से आगे कि कहानी  . . .  फिर बिन्दा के चेहरे से लग गया कि अब वो कुछ बोलने की स्थिति में नहीं है और सब कुछ रागिनी पर छोड़ दी है। बिन्दा ने अपनी छोटी बेटी तो हल्के से झिड़का, “तू यहाँ बैठ कर क्या सुन रही है सब…

प्रेषक : गबरू मेरा नाम गबरू है. मेरी उम्र लगभग 45 वर्ष  की है. यूँ तो मै एक टैक्सी ड्राइवर हूँ लेकिन मै रंडियों का दलाल भी हूँ. मैंने अपने संपर्क से कई बेरोजगार लड़कियों को जिस्म फरोशी के धंधे में उतारा. मैंने कभी भी किसी लड़की को जबरदस्ती इस धंधे में आने को मजबूर नहीं किया. मैंने सिर्फ उन लड़कियों…

1 2 3