अर्चना की गन्दी चुदाई

0
loading...

प्रेषक : यश …

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम यश है, में मध्यप्रदेश का रहने वाला हूँ। ये कहानी साल 2006 की है, जब में एम.बी.ए के दूसरे साल में गया था, तो तब हमारे एक फेमिली फ्रेंड की लड़की अर्चना (टाईट ब्रेस्ट, बड़े- बड़े हिप्स,  सॉफ्ट लिप्स और फेयर कलर) का भी मेरे कॉलेज में एम.बी.ए में एड्मिशन हो गया,  क्योंकि में वहाँ पहले से था और उसका सीनियर था इसलिए अंकल ने मुझे उसका लोकल गार्डियन बना दिया था। अब वो हॉस्टल में रहने लगी थी, जो कि मेरे रूम के बगल में ही था। अब शुरू-शुरू में वो मुझसे बात नहीं करती थी और उदास और चुपचाप रहती थी, लेकिन फिर धीरे-धीरे मैंने उससे जबरदस्त दोस्ती कर ली। अब वो अक्सर मेरे रूम में आ जाती थी, तब हम लोग बिल्कुल खुले हो जाते थे जैसे वो अपना दुपट्टा उतार देती थी। में तो उसके अंडरवेयर में रहता था। हम लोग कभी कंप्यूटर पर फिल्म देखते थे, तो वो सेक्सी सीन देखकर मुझे छेड़ती कि तुम लोग हमेशा ऐसी चीज देखते हो, तो में अक्सर उसकी जाँघ पर अपना सिर रख देता और हम लोग घंटो बात करते रहते थे।

फिर एक दिन रात को उसने मुझे फ़ोन किया और कहा कि आज बहुत उदास लग रहा है। तो मैंने उसे बहुत समझाया, लेकिन वो रोए जा रही थी। फिर मैंने उससे कहा कि तुम सुबह 6 बजे मेरे रूम पर आ जाना, अभी किसी तरह इंतज़ार करो और फिर में सो गया। फिर ठीक 6 बजे उसने डोर पर लॉक किया क्योंकि में नंगा सोता हूँ तो मैंने जल्दी से एक चड्डी पहनी और दरवाजा खोला। फिर वो रूम में एंटर कर गई और जमीन पर पड़े बिस्तर पर बैठ गई। उसको पता था कि में नंगा सोता हूँ, तो में रज़ाई में घुसकर लेट गया, जब सर्दियों के दिन थे।

loading...

फिर उसने बताया कि कल ज़्यादा पैसे खर्च करने के कारण घर से फ़ोन पर डाट पड़ी। फिर मैंने उससे कहा कि कोई बात नहीं तुम दुखी मत हो, रज़ाई में आ जाओ तुम रात में नहीं सोई हो तो थोड़ी देर सो लो, तो वो रजाई में आ गई। अब हम दोनों एकदम चिपककर लेटे थे, अब मेरा लंड उसकी गांड को टच कर रहा था, वो एक हरे रंग का सलवार कमीज़ पहनकर आई थी। फिर मैंने उससे कहा कि आज हम साथ रहते है, तुम कॉलेज मत जाना। तभी किसी बात पर उसने हँसते-हँसते पाद दिया, तो इससे वो शर्मा गई, उसका पाद भी सेक्सी स्मेल दे रहा था। तो मैंने पूछा कि टट्टी नहीं की क्या? तो उसने कहा कि नहीं सिर्फ़ ब्रश करके चली आई। फिर अचानक से में उसे किस करने लगा और उसकी चूचीयों को मसलने लगा। अब में लगातार अपना लंड उसकी चूत पर रगड़ने लगा था। अब वो कुछ बोल नहीं पा रही थी, क्योंकि में ज़ोरदार फ्रेंच किस ले रहा था, अब वो कटे हुए मुर्गे की तरह छटपटा रही थी। दोस्तों ये कहानी आप कामुकता डॉट कॉम पर पड़ रहे है।

loading...
loading...

फिर मैंने उसकी सलवार का नाड़ा तोड़कर उसे उतार फेंका और अपना एक हाथ उसकी पेंटी के पीछे से उसकी गांड में डाल दिया। तो थोड़ी देर में उसका पेशाब निकल गया, तो तब मैंने उसकी पेंटी फाड़कर फेंक दी और उसकी चूत को चाटने लगा। अब मुझे उसमें से कामरस की खुशबू आ रही थी। अब में उसे चाटने लगा था और वो मौन कर रही थी ऊऊओ, आआ, मुऊउम्म्मय्ययययययी। अब उसका विरोध भी कम हो गया था, अब वो सरेंडर कर चुकी थी। फिर मैंने उसकी कमीज उतार फेंकी और उसकी ब्रा को फाड़ दिया, अब वो पूरी नंगी मचल रही थी। फिर मैंने अपनी अंडरवेयर भी उतार दी और मेरा लंड उसकी चूत में ज़ोर से धकेल दिया। तो वो जोर से चीख पड़ी मम्मी बचाओ, तो में उसे फिर से अपनी जीभ घुसाकर किस करने लगा। अब मैंने अपना थूक उसके मुँह में डाल दिया था, अब वो सब निगले जा रही थी। फिर 2-3 जोरदार झटके से उसकी वर्जिनिटी फट गई थी और बिस्तर पर पूरा खून फैल गया था।  अब वो दर्द से कांप उठी थी, तो मैंने अपना लंड बाहर निकाल लिया, लेकिन में उसे किस करता रहा और उसकी चूचीयों को मसलता रहा।

फिर वो बोली कि मुझे टट्टी करनी है, तो मैंने उसको एक कोने पर टावल बिछाकर खड़ा कर दिया और उसे डांटते हुए कहा कि अब इस पर कर लो, तो वो प्रेशर लगाने लगी। अब में मोबाईल में इसे रिकॉर्ड करने लगा था। फिर थोड़ी देर के बाद पादने के साथ ही उसकी गांड से टट्टी निकलने लगी, अब वो थोड़ा-थोड़ा पेशाब भी कर रही थी। तो तभी मेरा लंड तन गया और में उसे उसी गंदी हालत में खींचकर चोदने लगा और थोड़ी देर में झड़ गया और वो भी झड़ गई। फिर मैंने अपना लंड बाहर निकाल लिया, अब उसकी चूत से मेरा वीर्य टपक रहा था और उसके पूरे बदन पर मेरा थूक लगा था और उसकी गांड के आसपास टट्टी लगी थी। फिर मैंने लगातार 2 घंटे तक उसकी चुदाई की और फिर मैंने उसकी कमीज को नीचे लगाकर उसके सामने ही टट्टी की। फिर मैंने उससे कहा की कि अपने मुँह से मेरी गांड साफ करो और फिर चाटो, तो  उसने वैसा ही किया। फिर मैंने उससे दूध गर्म करवाकर हम दोनों ने दूध पिया और वो फिर से मेरे पास आकर लेट गई। फिर इस तरह से हम लोग अगली सुबह तक चुदाई करते रहे और हमारी चुदाई का यह खेल 24 घंटे तक चला ।।

धन्यवाद …

Comments are closed.

error: Content is protected !!