भाभी और उसकी छोटी बहन की चुदाई

0
loading...

प्रेषक : समीर …

हैल्लो दोस्तों, में जब अपनी पड़ोसन भाभी की चुदाई कर रहा था, तो तभी उसकी छोटी बहन स्कूल से वहाँ आ गई और उसने हमको देख लिया और फिर वो बेडरूम के बाहर चली गई थी। फिर थोड़ी देर के बाद में और भाभी बेडरूम के बाहर आए तो वो सोफे पर बैठी हुई थी। फिर उसने हमको देखकर कहा कि तुम क्या कर रहे थे? तो तब भाभी ने कहा कि तुम्हारे जीजू जो नहीं करते, वो मैंने इसके पास करवाया है। तब उसने कहा कि में जीजू को बोल दूँगी, लेकिन भाभी घबराए बिना कहने लगी कि कोई बात नहीं में भी तुम्हारी सारी बातें जानती हूँ। तब वो बोली कि कैसी बातें? तो तब भाभी कहने लगी कि तुम बाथरूम में रोज क्या करती हो? अपनी चूत को रब करके उसमें रोज उंगली करती हो कि नहीं। तो यह सुनकर वो घबरा गई। तब भाभी कहने लगी कि तुम चाहो तो तुम भी मज़े ले सकती हो, मुझे कोई प्रोब्लम नहीं है। तो यह सुनकर में खुश हो गया कि चलो एक साथ दो चूत चोदने को मिलेगी और एक तो वर्जिन है।

फिर भाभी उसके पास जाकर बैठ गई और उसकी स्कूल यूनिफॉर्म का स्कर्ट बहुत छोटा था, जिसको उन्होंने ऊँचा कर दिया था। तब में देखकर हैरान हो गया कि उसकी पेंटी एकदम भीगी हुई थी। तब भाभी ने कहा कि अभी तुम हमको देख-देखकर क्या कर रही थी? अपनी चूत रब कर रही थी ना और बोली कि चलो आज तुम भी पूरा मज़ा ले लो और उसकी चूत को रब करने लगी। यह देखकर मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया और फिर में सोफे के पीछे खड़ा होकर उसके बड़े-बड़े टाईट बूब्स को दबाने लगा। अब वो भी मस्ती में आने लगी थी। अब एक तरफ भाभी उसकी चूत को सक कर रही थी और दूसरी तरफ में उसके बूब्स को दबा रहा था। उसके बूब्स बहुत ही टाईट और मोटे थे।

फिर वो बोली कि प्लीज मेरे बूब्स को सक करो। फिर में सोफे पर आकर बैठ गया और उसकी शर्ट को उतार दिया और उसके बूब्स को सक करने लगा था। अब उसके बूब्स को सक करने से वो एकदम लाल हो गये थे और अब उसकी चूत ने भी पानी छोड़ दिया था। अब वो एकदम गर्म हो चुकी थी। अब में उसके पूरे बदन को सक कर रहा था। फिर मैंने अपनी पेंट उतारी और मेरा मोटा और लंबा लंड उसके मुँह में देने की कोशिश करने लगा। तब वो मना करने लगी, लेकिन मैंने कहा कि जब तक तुम इसको सक नहीं करोगी यह तुम्हारी चूत में जाने से इनकार करेगा, तो प्लीज इसको सक करो। फिर वो मेरे लंड को सक करने लगी और अब मुझे बहुत मज़ा आने लगा था। अब में उसकी चूत को सक करने लगा था, तो एक बार फिर से उसकी चूत ने पानी छोड़ दिया।

loading...

फिर भाभी ने कहा कि समीर जल्दी करो वरना कोई आ जाएगा, अब यह एकदम तैयार है, अब अपना लंड इसकी चूत में डालो। अब भाभी भी पूरी तरह से नंगी थी और अब वो भी अपनी चूत में फिंगरिंग कर रही थी और अपनी बहन को बोल रही थी कि चाटो मेरी चूत को, तुम्हारे जीजू तो इसको चाटते ही नहीं है, यह मुझे बहुत परेशान करती है। तब मैंने भाभी से कहा कि तुम्हें जब भी अपनी चूत और पूरे बदन को चटवाना हो तो मुझे याद कर लेना, में आपके पूरे बदन को मसाज दूंगा और चाटूँगा। तो तब भाभी बोली कि हाँ जरुर, में अब तुमसे ही अपने बदन की मालिश करवाऊंगी और सक करवाऊंगी, तुम इस काम में बहुत एक्सपर्ट हो और बोली कि चलो अब इसकी चूत की प्यास बुझा दो, यह भी बाथरूम में जा-जाकर अपनी चूत को रब करती है और फिंगरिंग करती है। तब वो बोली कि दीदी में तो जीजू और आपको रात को सेक्स करते देखकर ही यह सब सीखी हूँ और मेरी चूत में उंगली डालती हूँ, अब मुझसे इसकी खुज़ली बर्दाश्त नहीं होती है, दीदी आप कुछ करो ना। तब भाभी ने कहा कि समीर जल्दी करो। दोस्तों ये कहानी आप कामुकता डॉट कॉम पर पड़ रहे है।

फिर मैंने उसको सोफे पर ही लेटा दिया और फिर उसकी गांड के नीचे भाभी ने एक तकिया रखा, क्योंकि वो अभी वर्जिन थी और मुझसे कहा कि शुरू करो और फिर वो उसके मुँह के पास जाकर अपनी चूत उसके मुँह पर रख दी और कहने लगी कि तुम इसको सक करो। फिर मैंने अपना लंड उसकी चूत के सामने रखा और अंदर करने लगा, लेकिन उसकी चूत बहुत ही टाईट थी तो वो अंदर नहीं जा रहा था। फिर यह देखकर भाभी ने कहा कि थोड़ा ज़ोर लगाओ, तो मैंने थोड़ा ज़ोर लगाया, लेकिन वो अंदर नहीं गया। तब भाभी ने कहा कि तुम्हारा बहुत मोटा है, मैंने आज तक इतना मोटा लंड ब्लू फिल्म में भी नहीं देखा है और फिर वो वहाँ से खड़ी हुई और बेडरूम में से क्रीम लेकर आई और थोड़ी क्रीम मेरे लंड पर लगाई और थोड़ी क्रीम अपनी बहन की चूत पर लगाई और रब किया और फिर बोली कि अब अपने लंड को डालो। तब मैंने फिर से कोशिश की तो मेरा लंड थोड़ा उसकी चूत में चला गया।

loading...

अब वो रोने लगी थी और बोली कि मुझे दर्द हो रहा है। तब भाभी ने कहा कि कुछ नहीं होगा और उसके होंठो पर अपने होंठ रख दिए और मुझे इशारा किया कि अब डालो। तब मैंने एक ज़ोरदार धक्का दिया और मेरा पूरा लंड उसकी वर्जिन चूत में डाल दिया। तभी वो चीख पड़ी, लेकिन भाभी के होंठ होने से उसकी आवाज नहीं निकली थी, लेकिन उसके आसूं निकल गये थे। अब वो रोने लगी थी, तो तब भाभी ने कहा कि तुम कुछ देर तक ऐसे ही रहो, इसकी चूत छोटी और टाईट है इसलिए। फिर में करीब 5 मिनट तक ऐसे ही रहा और फिर मूव होने लगा। अब उसको भी मज़ा आने लगा था और अब वो भी रेस्पोन्स देने लगी थी और कहने लगी कि ज़ोर से और ज़ोर से, में कई दिनों से किसी के पास चुदाई करवाने की सोच रही थी, लेकिन मुझे कोई मिला ही नहीं, एक बार मैंने अपने लिफ्टमैन के सामने भी अपने बूब्स दिखाए थे कि यह देखकर वो मुझे चोदे, लेकिन उसकी वाईफ वहाँ आ गई थी।

मैंने मेरे बॉयफ्रेंड को भी कहा था, लेकिन उसका लंड तो बहुत छोटा था, तुम्हारा सच में बहुत सेक्सी और मोटा लंड है, अब में हमेशा इसके पास ही चुदवाऊंगी। अब में 15 मिनट तक धक्के लगाने के बाद अपना पानी छोड़ने वाला था। तो तब भाभी ने कहा कि समीर अपना पानी बाहर निकालना। तो तब मैंने तुरंत अपना लंड बाहर निकाला और उसके मुँह में अपना पानी छोड़ दिया और उससे कहा कि तुम्हारी पहली चुदाई का जूस तुम पी जाओ। तो वो मेरा सारा पानी पी गई और बोली कि बहुत टेस्टी है। फिर हम तीनों को जब भी कोई मौका मिला तो तब हमने खूब चुदाई की और खूब इन्जॉय किया ।।

loading...

धन्यवाद …

Comments are closed.

error: Content is protected !!