चुद गयी महालक्ष्मी

0
Loading...

प्रेषक : अनिल …

हैल्लो दोस्तों, यह मेरी कामुकता डॉट कॉम पर दूसरी कहानी है। अगर मुझसे इसमें कोई भूल चूक हो गयी तो में आपसे माफी चाहता हूँ। मेरा नाम अनिल है और मेरी उम्र 23 साल है। में हैदराबाद के एक शहर का रहने वाला हूँ और में एक ऑफिस का असिस्टेंट मेनेजर हूँ। में दिखने में एकदम ठीक मेरा गोरा रंग, गठीला बदन हर एक लड़की को मेरी तरफ आकर्षित करता है और वैसे मेरी लम्बाई 5.9 है और मेरे लंड का आकार सात इंच है। दोस्तों आप लोगो की तरह अब तक मैंने बहुत सारी सेक्सी कहानियाँ पढ़ी है वो सभी मुझे बहुत पसंद आई, इसलिए मेरा मन हमेशा ऐसा करने के लिए तैयार रहता है। मुझे सेक्सी कहानियाँ पढ़कर बड़ा मज़ा और चेन की नींद आती है। दोस्तों बस अब आप सभी को और ज्यादा बोर ना करते हुए में एक मेरे साथ हुआ सच्चा हादसा आज सुनाता हूँ।

यह बस कुछ दिनों पहले की बात है जब में ऑफिस से मेरी तबीयत खराब होने की वजह से पूरे पांच दिनों की छुट्टी पर था। दोस्तों मेरे घर के पास एक औरत रहती है, उसका नाम महालक्ष्मी है और उसकी उम्र करीब 30-32 साल है और कभी मैंने यह सोचा भी नहीं था कि मेरे और उसके बीच कभी सेक्स होगा। उनके एक लड़की और एक लड़का है और वो दोनों अभी स्कूल में अपनी पढ़ाई कर रहे है और उनके पति कहीं दूसरे शहर में रहकर नौकरी करते है। तो उस दिन में छुट्टी पर अपने घर ही था और मेरे घर वाले हमारे किसी रिश्तेदार के यहाँ गये हुए थे। हर दिन सुबह मुझे देरी से उठने की आदत है और शायद मेरी माँ ने उसको मुझे सवेरे ऑफिस जाने के लिए उठाने के लिए कहा होगा।

फिर उस दिन वो सुबह 9.30 बजे मेरे घर मुझे उठाने आ गई और मेरे बेड के पास आकर वो मुझे उठाने लगी। उस समय घर पर कोई भी नहीं था और में उस दिन सिर्फ़ अंडरवियर में ही सोया हुआ था और किसी वजह से शायद मेरा लंड खड़ा हुआ था, जो मेरे अंडरवियर से बहुत साफ नजर आ रहा था। अब में सपने में किसी को अपने साथ सोचने देखने लगा और में उसको चूम रहा था और वो मेरे लंड को सहला रही थी। तभी अचानक से मैंने अपनी आंख को खोलकर देखा, तो मुझे देखकर डर गयी और वो मुझसे कहने लगी कि तुम बिना कपड़ों के सो रहे थे, मैंने सब कुछ देख लिया। अब में उससे कहने लगा कि आप यह बात किसी से मत कहना, वो कहने लगी कि हाँ ठीक है में नहीं कहूँगी, लेकिन तुम्हे मेरा भी एक छोटा सा काम करना होगा जिसके बाद मेरा यह मुहं कभी भी किसी के सामने नहीं खुलेगा। अब मैंने तुरंत तैयार होकर उनसे कहा कि आप जो भी मुझसे कहे, में वो सब करने के लिए तैयार हूँ, लेकिन आप चुप ही रहना और कोई यह बात ना जान सके। अब उसने मुझसे कहा क्या तुम एक बार मेरी गांड मारोगे? मुझे बहुत इच्छा होती है अपनी गांड में लंड लेने की, क्या तुम मेरा यह छोटा सा काम कर दोगे? दोस्तों में उसके मुहं से यह शब्द सुनकर एकदम चकित हो गया और मेरे पैरों के नीचे से जमीन सरक गई, क्योंकि यह सब मेरी उम्मीद से बहुत ज्यादा था जिसके बारे में मैंने कभी सोचा भी नहीं था और फिर मैंने खुश होकर पूरी तरह से खुलकर जवाब देकर उनसे कहा कि जब तुम ही मुझसे अपनी गांड मरवाने के लिए बेचैन हो तो मेरे लंड का क्या जाता है? उसके बाद में जल्दी से बाथरूम में चला गया और तुरंत फ्रेश होकर वापस आ गया और वो मेरे इंतजार में खड़ी हुई थी।

फिर मैंने उसको अपनी बाहों में जकड़ लिया और उसको चूमना शुरू किया। फिर करीब पांच मिनट के उस काम के बाद मैंने उसके शरीर से सभी कपड़ों को अलग किया, जिसकी वजह से अब वो मेरे सामने सिर्फ़ ब्रा और पेंटी में मेरे तन से चिपकी हुई थी। उसका वो गरम जिस्म मेरे बदन को जोश में लाकर पागल किए जा रहा था, जिसकी वजह से अब मुझसे भी बर्दाश्त नहीं हुआ और मैंने उसको अपने बेड पर लेटा दिया, उसके बाद उसकी ब्रा पेंटी को उतार दिया और में उसको एक बार फिर से चूमने लगा था। में उसके बूब्स पर अपनी जीभ से मसाज करते हुए में उसके पेट से होता हुआ उसकी चूत के पास तक पहुँच गया। दोस्तों उसकी चूत आकार में बड़ी होने के साथ साथ, उभरी हुई बड़ी ही रसभरी थी, जिससे मीठा शहद निकल रहा था। में उसकी जांघो के साथ साथ उसकी चूत के आसपास के हिस्से को भी अपनी जीभ से चाटने सहलाने लगा था, जिसकी वजह से वो गरम होने लगी थी। फिर कुछ ही देर इतना सब करने से ही वो बहुत गरम होकर जोश में आकर ही झड़ गयी और उसकी चूत से रस बहने लगा, जिसको देखकर मैंने उससे पूछा कि यह क्या आप इतनी जल्दी झड़ गई? तो वो कहने लगी कि बूब्स, चूत की मसाज छेड़छाड़ करने की वजह से औरते जल्दी गरम होकर कुछ ही देर में ठंडी भी हो जाती है।

Loading...

अब में वहीं से ऊपर आने के बाद धीरे से दोबारा उसकी गीली चूत के तरफ बढ़ने लगा और मैंने सूंघकर देखा कि उसकी चूत के अंदर से एक अलग सी भीनी भीनी खुशबू आ रही थी, जो मुझे मदहोश करने लगी थी, कुछ देर सूंघकर में अब चूत को किस करने लगा और उसके बाद अपनी जीभ से चाटते हुए उसकी चुदाई करने लगा, जिसकी वजह से वो जोश में आकर सिसकियाँ लेने लगी आह्ह्ह्हह ऊफ्फ्फ प्लीज मुझे तुम अब और ना तड़पाओ ऊईईई मुझे तुम अब चोदना शुरू करो प्लीज। उसकी चूत बहुत गीली हो चुकी थी और में उसका बड़ा मज़ा लेकर चुदाई करना चाहता था, इसलिए मैंने कुछ देर और अपनी जीभ से उसकी चुदाई करना वैसे ही जारी रखा और कुछ देर बाद वो एक बार फिर से झड़ गयी। फिर इस बार में उसका सारा रस पी गया जो स्वाद में नमकीन सा था, जिसको चूसने में चाटकर साफ करने में मुझे बड़ा मज़ा आया। अब मैंने यह सब करने के बाद धीरे से अपने लंड को बाहर निकाला जो तनकर खड़ा हुआ था और जैसे ही उसने मेरे लंड को देखा कि मैंने अपने लंड को बाहर निकाल दिया है जो उसकी चुदाई के लिए तरस रहा है, वो देखकर खुश होने लगी। फिर तुरंत ही उसने लपककर मेरे लंड को अपने मुहं में लेकर चूसना चाटना शुरू किया। वो पूरे लंड को अंदर, बाहर करके मेरे लंड को किसी अनुभवी रंडी की तरह उसके मज़े ले रही थी। दोस्तों ये कहानी आप कामुकता डॉट कॉम पर पड़ रहे है।

Loading...

दोस्तों कुछ देर बाद मुझे लगने लगा कि में उसके यह सब करने से बहुत जोश में आ चुका हूँ और अब मुझे डर था कि कहीं में उसके मुहं में झड़ ना जाऊँ? तो मैंने तुरंत ही उसको नीचे लेटाकर उसकी चूत के मुहं पर अपने लंड का टोपा रख दिया, जिसके बाद मैंने अंदर की तरफ डालते हुए दबाव बनाया। दोस्तों मेरा वो लंड उसकी गीली चिकनी चूत में बड़ी आसानी से आधा अंदर चला गया और में उसको चूमते हुए उसके पूरे बदन को सहलाते हुए मैंने एक ज़ोर का झटका दिया, जिसकी वजह से उसको ज्यादा दर्द ना हो। अब मेरा पूरा लंड उसकी गरम गीली कामुक चूत में पूरा अंदर चला गया और करीब दस मिनट की चुदाई के बाद वो बड़ी थक गयी। उसका पूरा शरीर पसीने से भीग चुका था और अब वो मुझसे रुकने के लिए कहने लगी कि में उसी समय रुक गया। अब वो मुझसे कहने लगी कि वो अब और चूत नहीं मरवा सकती, क्योंकि में उसको पहले ही चाट चाटकर बहुत ढीली कर चुका था और ढीली चूत में धक्के खाने से उनको वो मज़ा नहीं आ रहा था, जिसके लिए उन्होंने यह सब शुरू किया था। उनको जोश से भरी चुदाई के मज़े चाहिए थे, जिसमें उनको पूरी तरह से संतुष्टि मिले भरपूर मज़ा मिले। फिर भी मैंने कुछ देर उसको तेज धक्के देने शुरू रखे वैसे ही चोद चोदकर मैंने उसका हाल बेहाल कर दिया, वो मुझसे प्लीज अब बस करो अब बहुत हुआ कहने लगी। फिर मैंने उससे कहा कि जब में आपका एक काम कर सकता हूँ, तो आपको भी मेरा एक काम करना पड़ेगा? वो पूछने लगी कि वो क्या? मैंने कहा कि में एक बार आपकी गांड भी मारना चाहता हूँ प्लीज आप मुझे उसकी भी चुदाई के मज़े दे दो। तो उसने मेरे मुहं से यह बात सुनकर बहुत खुश होकर कहा कि तुमने तो आज मेरे मन की बात छीन ली, हाँ में भी एक बार उसको तुम्हारे लंड से मरवाकर उसके मज़े लेना चाहती हूँ।

दोस्तों उनके मुहं से इतना सुनते ही वैसे तो मेरा लंड पहले से ही तनकर खड़ा था। मैंने उसको तुरंत दूसरी तरफ घुमा दिया और अब वो मेरे सामने किसी प्यासी कुतिया की तरह अपने हाथों पैरों पर आकर इंतजार करने लगी। फिर मैंने अपना लंड उसके दोनों मोटे मोटे कूल्हों के बीच गांड के छेद पर रख दिया जो कि बहुत गुलाबी रंग का होने के साथ साथ टाइट भी थी। फिर जैसे ही मैंने अपना पहला झटका दिया वो दर्द की वजह से चिल्ला पड़ी और उसके मुहं से आईईईईई ऊफ्फफ्फ् माँ में मर गई की आवाज बाहर निकली, वो मुझसे कहने लगी ऊह्ह्ह्ह मेरी गांड आज तक मेरे पति ने भी कभी नहीं मारी, प्लीज धीरे से करो, मुझे बड़ा तेज दर्द हो रहा है वरना में मर ही जाउंगी। फिर मैंने एक और तेज झटका लगा दिया, जिसकी वजह से मेरा लंड आधे से ज़्यादा उसकी गांड के अंदर चला गया, क्योंकि उसकी गांड बहुत टाईट कसी हुई थी। अब में थोड़ा सा रुककर उसका दर्द कम होने का इंतजार करने लगा और दो मिनट के बाद मैंने अपना तीसरा वैसा ही तेज झटका दिया और अब मेरा पूरा लंड उसकी गांड में चला गया। वो दर्द की वजह से रोने लगी और थोड़ी देर बाद जब उसका दर्द कम हो गया।

फिर मैंने अपना काम करना शुरू किया और मैंने करीब दस मिनट तक उसको एक जैसे ही तेज धक्के देकर मज़े लिए। में उसके दोनों कूल्हों को कसकर पकड़े हुए था, जिसकी वजह से वो छूट ना सकी, कोशिश तो उसने बहुत बार की और में उसकी गांड मारने में लगा रहा। दोस्तों अब जल्दी ही मेरा झड़ने का समय नजदीक आ चुका था में झड़ने के पास पहुँच चुका था और अब उसके ही अनुसार मैंने उसकी गांड में ही अपना सारा गरम गरम वीर्य छोड़ दिया। फिर उसको अपनी गांड के अंदर महसूस करके वो बहुत खुश पूरी तरह से संतुष्ट हो गई और मैंने लंड के छोटा होते ही उसको बाहर निकाल लिया और थोड़ी देर वहीं लेकर आराम करने के बाद वो अपने कपड़े पहनकर अपने घर चली गयी और दूसरे दिन वो दोबारा मेरे पास आ गई। मुझे उसने एक किस करके मुझे उसकी मस्त चुदाई उस सुख पहली संतुष्टि का मज़ा लेने के लिए धन्यवाद कहा और उसी समय मैंने उसको अपनी बाहों में भर लिया और उसको चूमने प्यार करने लगा ।।

धन्यवाद …

Comments are closed.

error: Content is protected !!