देशी किरायेदार की सेक्सी चूत

0
Loading...

प्रेषक : रमेश …

हैल्लो दोस्तों, मेरी कामुकता डॉट कॉम पर यह पहली स्टोरी है, मेरा नाम रमेश है, में गुजरात का रहने वाला हूँ। मुझे शादीशुदा आंटी बहुत अच्छी लगती है और में उनको पटाने में लगा ही रहता हूँ और में इस स्टोरी में आपको बताना चाहता हूँ कि कैसे मैंने अपनी किरायेदारनी रेशमा को चोदा? रेशमा बहुत ही सेक्सी शादीशुदा आंटी है, उसका फिगर 36-34-36 है। अब में आपको ज़्यादा बोर ना करते हुए सीधा अपनी स्टोरी पर आता हूँ।

यह बात उस समय की है जब में 12वीं क्लास में पढ़ा करता था, में हमेशा से शादीशुदा आंटी को चोदने के बारे में सोचता रहता था। फिर एक दिन में गली में खेल रहा था, तो मैंने देखा कि पास वाले घर में कोई शादीशुदा कपल किराए पर रहने आया था, लेकिन जब मैंने आंटी को देखा तो देखता ही रह गया, यार क्या आंटी थी? उनकी गांड मोटी थी, उसके कूल्हें मोटे-मोटे और बूब्स बड़े बड़े थे, जिसको देखकर कोई भी पागल हो जाए और उन्होंने पज़ामी सूट पहना हुआ था। फिर उस दिन से मैंने मन में सोच लिया कि में इनको जरुर चोदूंगा। उनके पति एक मल्टीनेशनल कंपनी में जॉब करते थे, तो वो टूर पर जाते ही रहते थे और वो रोज़ सुबह उठकर जॉगिंग और एक्सरसाईज करने जाती थी।

फिर में 2-3 दिन तक तो उन्हें देखता रहा और फिर मैंने भी सोचा कि में भी रनिंग पर जाया करूँगा। फिर में अगले दिन तैयार हो गया, अब में उनको रोज़ देखता रहता था। फिर 3 दिन के बाद आंटी ने मुझे अपने पास बुलाया और कहा कि तुम वही हो ना जो हमारे घर के पास वाले घर में रहते हो। तो मैंने हाँ कर दी और उन्होंने मुझे स्माइल पास की और पूछने लगी कि तुम रोज़ जॉगिंग पर आते हो। तो मैंने कहा कि हाँ, तो वो कहने लगी कि मुझे रनिंग पर आते समय बहुत अकेलापन महसूस होता है, हम दोनों एक साथ रनिंग पर जा सकते है। अब यारो में तो इतना सुनकर खुशी के मारे पागल हो गया था, तो मैंने हाँ कर दी और फिर हम लोग आगे जाने लगे और अब हमारे बीच में बातें होने लगी थी।

रेशमा – तुम इतने गुड लुकिंग हो तुम्हारे कोई गर्लफ्रेंड तो होगी?

में – नहीं।

रेशमा – ओह, मज़ाक मत करो तुम इतने अच्छे हो कि तुम्हें देखकर कोई भी लड़की हाँ कर देगी।

में – नहीं आंटी, ऐसी बात नहीं है।

रेशमा – फिर कौन सी बात है?

में – अभी तक कोई आप जैसी लड़की नहीं मिली।

रेशमा – श अच्छा।

फिर उन्होंने स्माइल पास की और हम लोग घर चले गये। अब धीरे-धीरे हम बहुत अच्छे दोस्त बन गये थे। अब में रोज़ उनके साथ ही बातें करता रहता और वो घर पर अकेली ही होती थी। अब वो मेरे साथ अपनी हर एक प्रोब्लम शेयर करती थी। फिर एक दिन आंटी बहुत दुखी सी बैठी थी और रो रही थी, तो मैंने उन्हें रोते हुए देख लिया। फिर मैंने जब उनसे पूछा कि आप रो क्यों रहे हो? तो इतना कहते ही उसने मुझे हग कर लिया, अब मेरी तो यारो निकल पड़ी थी। फिर आंटी ने कहा कि तेरे अंकल मुझसे बिल्कुल भी प्यार नहीं करते है, वो हमेशा अपने काम में लगे रहते है, वो मुझे बिल्कुल भी समय नहीं देते है। तो मैंने भी फ्लर्ट करना शुरू किया, फिर मैंने कहा कि आंटी आप फ़िक्र मत करो में हूँ ना। तो आंटी शॉक्ड हो गई और मेरी तरफ देखने लगी। दोस्तों ये कहानी आप कामुकता डॉट कॉम पर पड़ रहे है।

फिर मैंने कहा कि क्या में आपकी कोई मदद कर सकता हूँ? तो आंटी ने स्माइल किया। तभी मेरी गंदी किस्मत से अंकल भी घर पर आ गये। फिर मैंने उनको हैल्लो किया तो उन्होंने भी मुझे हैल्लो कहा। फिर आंटी अंकल से पूछने लगी कि आज आप बहुत जल्दी आ गये, तो अंकल ने कहा कि आज मेरी तबीयत खराब हो गई है इसलिय मैंने ऑफिस से 5 दिनों की छुट्टी ले ली है। तो तभी मुझे मेरे एक फ्रेंड की कॉल आई और में बाय कह कर वहाँ से चला गया। उसके बाद मेरी उनसे 2 दिन तक बात नहीं हुई और फिर तीसरे दिन मुझे अंजान नंबर से फोन आया तो मैंने फोन पिक किया और वो रेशमा थी।

Loading...

फिर उन्होंने कहा कि उन्हें मुझसे अकेले में बात करनी है शाम को घर आ जाना, तो में शाम को उनके घर पर चला गया। फिर मैंने देखा कि रेशमा घर पर अकेली थी, तो मैंने पूछा कि अंकल कहाँ है? तो आंटी कहने लगी कि वो 2 दिन के लिए टूर पर गये है। फिर मैंने कहा कि आपको कौन सी बात करनी थी? तो उन्होंने कहा कि बताती हूँ पहले में नहाकर आती हूँ। फिर में बाहर बैठ गया और वो नहाने चली गयी। अब मेरे मन में उनको नहाते देखने का कीड़ा था, तो में कोई जगह देखने लगा जिससे में उनको नहाते हुए देख सकूँ और मुझे जगह मिल भी गई थी। अब में उनको देखने लगा था, यार क्या मस्त बॉडी थी? उनके बड़े-बड़े बूब्स पानी के बीच में कितने अच्छे लग रहे थे। अब वो थोड़ी आगे झुककर अपने पैरो पर साबुन लगाने लगी थी। अब मेरी तरफ़ उनकी मोटी गांड थी। क्या गांड थी यार उनकी? अब मुझसे तो रहा ही नहीं गया और में वही पर ही मुठ मारने लगा। अब मेरा पानी 1 मिनट में ही निकल गया था और फिर में वापस से कमरे में जाकर बैठ गया।

फिर इतने में ही वो नहाकर बाहर आई, वो क्या माल लग रही थी? उन्होंने अपने बाल खुले छोड़े हुए थे और टाईट पज़ामी सूट पहना हुआ था, जिनमें से उनके बूब्स और गांड बड़ी हॉट और सेक्सी लग रही थी। फिर वो मेरे पास आकर बैठी, तो मैंने कहा कि आप बहुत हॉट लग रही हो। तो उन्होंने थैंक्स कहा, फिर वो इतने में ही दुखी हो गई और कहने लगी कि तुम्हारे अंकल मुझे बिल्कुल भी प्यार नहीं करते है। तो मैंने कहा कि प्लीज आप रोना मत। फिर वो कहने लगी कि सिर्फ़ तुम ही हो जो मुझसे प्यार करते हो, आई लव यू। अब ये सुनकर तो में शॉक्ड हो गया था, फिर मैंने उनको ज़ोर से हग कर लिया और उन्हें आई लव यू टू कहा। फिर मैंने उनके लिप्स के ऊपर अपने लिप्स रख दिए और 15 मिनट तक चूसता रहा। फिर जब में उसके बूब्स को दबाने लगा तो उन्होंने मेरा हाथ हटाकर कहा कि तुम ऊपर रूम में जाओ, में मैन दरवाजा लॉक करके आती हूँ। तो में ऊपर रूम में चला गया, अब मेरी खुशी का तो कोई ठिकाना ही नहीं रहा था।

Loading...

फिर मैंने अपने हाथ पर पिंच करके देखा कि यह कोई सपना तो नहीं है। फिर इतने में ही रेशमा कमरे में आई और उसके आते ही मैंने उसको बेड पर लेटा दिया और उस पर किस की बारिश कर दी। अब में कभी उसके मुँह पर तो कभी लिप्स पर, तो कभी पीठ पर, तो कभी गर्दन पर किस कर रहा था। फिर इसके बाद मैंने उसकी कमीज़ उतार दी और उसकी ब्रा के ऊपर से ही उसके बूब्स को दबाने लगा। फिर उसके बाद मैंने उसकी ब्रा भी उतार दी, क्या बूब्स थे यार उसके? फिर मैंने उसके राईट बूब्स को अपने मुँह में लिया और चूसने लगा और उसके दूसरे बूब्स को अपने एक हाथ से दबाने लगा। अब वो जोर- जोर से सिसकारियां ले रही थी अहहहह चूसो और चूसो जिससे मुझमें और जोश आ रहा था।

फिर करीब 20 मिनट तक उसको चूसने के बाद में उसकी पज़ामी के ऊपर से ही उसकी गांड को दबाने लगा और फिर उसने मेरे सारे कपड़े उतार दिए। फिर मैंने अपना लंड उसके हाथ में पकड़ा दिया तो वो कहने लगी कि ओह माई गॉड इतना बड़ा लंड। अब यह सुनकर मैंने उसको अपना लंड चूसने के लिए कहा, तो वो पहले तो मना करने लगी लेकिन मेरे ज़्यादा फोर्स करने पर उसने हाँ कर दी। फिर मैंने अपना लंड उसके मुँह में डाल दिया और उसके बाल पकड़कर अपना लंड जोर-जोर से अंदर तक करने लगा। अब मेरा लंड उसके गले तक अंदर चला गया था कि इतने में ही मेरा पानी निकल गया और वो मेरा सारा पानी पी गई। फिर मैंने अपना लंड उसके मुँह से बाहर निकाला और उसकी पज़ामी उतार दी। फिर मैंने उसको थोड़ा झुकने के लिए कहा और उसके झुकते ही मैंने उसकी गुलाबी चूत में अपना लंड डाल दिया, उसकी चूत थोड़ी सी टाईट थी। अब मेरे 2-3 धक्के देने से मेरा पूरा लंड उसकी चूत में चला गया था और वो जोर-जोर से आवाज़े निकालने लगी थी उईईइ माँ आहहहह और ज़ोर से, आज अपनी आंटी की प्यास बुझा दो बेटा में बहुत दिनों से तरस रही हूँ।

अब यह सुनकर मुझमें बहुत जोश आ गया था और में और तेज करने लगा। फिर उसके बाद मैंने उसको अपनी गोद में लिया और ज़ोर-जोर से अपना लंड अंदर बाहर करने लगा। अब मुझे बहुत मज़ा आ रहा था, अब करीब 30 मिनट तक चोदने के बाद मेरा पानी निकलने वाला था। तो मैंने आंटी से पूछा कि अंदर ही निकाल दूँ, तो वो कहने लगी कि अंदर ही निकाल दे। फिर मैंने अपना पानी उसकी चूत के अंदर ही निकाल दिया। फिर उसके बाद मैंने चाय पी और अपने कपड़े पहनकर घर चला गया। अब जब भी हमें मौका मिलता है, तो हम सेक्स करते है ।।

धन्यवाद …

Comments are closed.

error: Content is protected !!