गायत्री को आखिर चोद डाला

0
loading...

प्रेषक : विपिन …

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम विपिन है, में राजस्थान उदयपुर का रहने वाला हूँ। मेरी उम्र 28 साल है और मेरी फेमिली का बैकग्राउंड अच्छा है। यह स्टोरी मेरी दोस्त गायत्री और मेरी है। गायत्री और में बचपन से एक साथ पढ़ते थे, घूमते थे। में उससे बड़ा था तो में उसकी हर प्रोब्लम में मदद करता था, वो अब शादीशुदा थी। अब हम बहुत मस्ती करते थे, घूमते, एक दूसरे के यहाँ आना जाना, मूवी, पार्टी और हम बार और पार्क में छुपके से आधी-आधी बियर भी पीते थे।

ये दिसम्बर 2012 की बात है उसके घरवाले शादी में जोधपुर जाने वाले थे और वो अकेली रहने वाली थी, वो पहले भी बहुत बार अकेली रह चुकी है। इस बार उसने कहा कि उसे नॉनवेज खाना है, उसने कभी ट्राई नहीं किया था। फिर हमने प्लान बनाया और उस रात में चिकन बोन्लेस वेराइटी लेकर गया और बियर की बोतल और सिगरेट भी ले गया। फिर हमने पार्टी स्टार्ट की, अब हम दोनों नाईट कपड़ो में थे। जब दिसम्बर का महिना था तो सर्दी तेज़ थी, अब हमें बहुत ठंड लग रही थी और बियर भी ठंडी थी। फिर हमने बेड पर रज़ाई में अपने पैर डालकर बियर पीना स्टार्ट किया, उसने शॉर्ट्स पहना था और मैंने केफ्री पहनी थी। उसका फिगर तो क्या बताऊँ? 34-30-36 था, मुझे उसकी गांड बहुत सॉफ्ट और हॉट लगती थी, उसके होंठ भी रसीले थे बस चूसते ही रहो। मैंने उसे सॉफ्ट सेक्स करने को पहले भी बहुत बार बोला था, लेकिन वो मुझे डाट देती थी। में उसे चोदने का सपना तो सालों से देख रहा था और मैंने उसे याद करके उसके फोटो को देखकर मुठ तो हज़ारो बार मारी है।

हाँ तो अब में स्टोरी पर आता हूँ, उसने आधी से ज्यादा बियर कभी नहीं पी थी लेकिन इस बार उसने कहा कि वो पूरी पीएगी और सिगरेट भी पीने लगी। अब हम दोनों पूरे मज़े में थे, अब अंदर रजाई में उसके पैर मेरे पैर से टच होने लगे थे क्योंकि वो बियर के नशे में थोड़ी-थोड़ी लेटने लगी थी, जिससे उसके पैर मेरे पैर से टच होने लगे थे। अब मेरा लंड खड़ा हो चुका था और मैंने सोचा कि आज तो कुछ करना ही पड़ेगा, चूत में ना सही लेकिन इस रज़ाई में इसे नंगा करके कसकर लिपटना ज़रूर है। दोस्तों आप सोचो सर्दी में बियर और रजाई में आपके साथ हॉट गर्ल हो और पूरे रूम में सिगरेट और बियर की स्मेल आ रही हो। फिर मैंने रज़ाई में अपनी हरकत करनी शुरू कर दी और उसे बियर का गिलास एक बार में पीने को कहा, तो उसने पूरा एक बार में पी लिया।

loading...

अब उसे बियर चढ़ गई थी, फिर में रजाई में अंदर अपना हाथ डालकर उसकी नंगी जांघो को सहलाने लगा। उसे कुछ पता नहीं था कि मेरा हाथ कहाँ है? अब बियर पीने के बाद वो पूरी लेट गई और मुझे उसके टॉप से उसकी क्लीवेज दिखने लगी। फिर मैंने उसके बाल खोल दिए और अब वो हॉट से भी आसम दिख रही थी। फिर मैंने उसकी गर्दन पर अपना हाथ रखकर फैरा तो उसने मेरा हाथ पकड़ लिया और अपनी आँखे बंद करके वही सहलाने लगी। अब उसे गर्मी मिल रही थी। अब मुझे बहुत मज़ा आ रहा था। फिर मैंने मौका देखकर मेरी केफ्री रज़ाई में उतारकर उसके साथ लेट गया और फिर मैंने अपनी टी-शर्ट उतारी और उससे चिपक गया। अब उसने अपनी नशीली आवाज़ से मुझे खुद के शरीर से चिपका दिया था। अब वो नशे में थी, अब उसे बॉडी की गर्मी ने पागल कर दिया था। फिर में उसके टॉप में अपना हाथ डालकर फैरने लगा, अब वो आआहह आआहह हूऊ इसस्स्स्शह करने लगी थी। फिर मैंने उसका टॉप उतारा तो अंदर ब्लेक ब्रा थी और उसके बूब्स का तो पूछो मत। मैंने कभी सोचा भी नहीं था कि उसके बूब्स इतने बड़े-बड़े और गोरे होगे।

फिर में उसके ऊपर लेट गया, अब में अंडरवेयर में था और वो छोटे से शॉर्ट और ब्रा में थी। अब उसके ऊपर लेटते ही उसे ना जाने क्या हुआ? वो मुझे टाईट पकड़कर चूमने लगी। अब उसकी आँखे बंद थी बस वो मज़े ले रही थी, जैसे सपने में किसी के साथ कर रही हो। फिर मैंने उसके होंठ पर अपने होंठ रख दिए और चूसने लगा। अब उसके बूब्स चूसते हुए मेरा लंड कड़क हो गया था तो में उसे अंदर रोक नहीं पाया। अब में पूरा नंगा हो गया था और वापस से उसके ऊपर लेट गया और उसकी ब्रा भी उतार दी। अब सर्दी में दो जवान जिस्म एक दूसरे से चिपके हुए थे, दोस्तों आप सोचकर देखो आपका लंड और चूत ऐसे ही गीली हो जाएगी। अब में उसके बूब्स दबाने लगा था, अब वो आआहह आअहह उहह की आवाज़ निकालने लगी थी। अब में बुरी तरह से उसे चूस रहा था, चाट रहा था जैसे भूखे शेर को हड्डी मिल गई हो। अब में उसके कंधो को चाट रहा था, अब उसे ऐसे देखकर मुझसे रहा नहीं गया था।

फिर मैंने सोचा कि इससे पहले यह सो जाए अब इसे चोदना सही रहेगा, क्योंकि लड़की को चोदने का मज़ा तब है जब वो भी हॉट और मज़े ले, चाहे वो नशे में क्यों ना हो? फिर मैंने उसे पूरा नंगा कर दिया, उसकी चूत पर थोड़े थोड़े बाल भी थे, मुझे चूत पर थोड़े बाल पसंद है। फिर मैंने उसकी चूत पर अपना लंड रख दिया और जैसे ही अपना लंड उसकी चूत पर रखा तो हम दोनों के मुँह से आआहह निकल गई, क्योंकि हम दोनों को लंड चूत के मिलन से गर्मी का एहसास हुआ था। फिर में पागलों की तरह अपना लंड उसकी चूत पर रगड़ने लगा। अब वो भी मज़े लेने लगी थी, अब उसे तो शायद पता भी नही था कि उसकी चूत पर लंड है, लेकिन उसे वो एहसास, वो गर्मी, वो बॉडी का रगड़ना पागल कर रहा था। अब हम दोनों रज़ाई में नंगे थे, अब वो मेरे नीचे थी और मेरा लंड उसकी चूत के छेद पर था, शायद अब वो झड़ चुकी थी, अब बेड सारा गीला हो गया था।

loading...
loading...

फिर मैंने अपना लंड उसकी चूत में धीरे-धीरे डालना शुरू किया। अब में जैसे ही धक्का देता, तो मुझे उसके चेहरे पर थोड़ा सा दर्द दिखाई देता, अब मुझे बहुत मज़ा आ रहा था। फिर मैंने धीरे-धीरे करके अपना पूरा लंड उसकी चूत के अंदर डाल दिया। अब उसकी चूत से ब्लड आने लगा था। अब में अपना लंड अंदर बाहर करने लगा था। अब हम दोनों बहुत मज़े ले रहे थे, शायद अब उसे थोड़ा होश आने लगा था, अब उसकी आँखे खुल चुकी थी और उसे पता चल गया था कि उसकी चुदाई हो रही है, लेकिन फिर वो मज़े लेने लगी थी। अब बियर, सिगरेट और चूत की खुशबू से पूरे रूम का माहौल फुल चुदाई का हो गया था। फिर मैंने धक्के देने शुरू किए, अब में आवाज़ के साथ-साथ धक्के देने लगा था आआहह गायत्री यू आर सो हॉट आअहह आआहह, यार तुझे चोदने में मज़ा आ रहा है आआहह हूओ अयाया, आज ले साली मेरा लंड, बहुत तड़पाया तूने मुझे आआहह आआहह, में तुझे इतने सालों से चोदना चाहता था आआहह हूऊ आअहह अयाया।

अब वो दूसरी बार झड़ने वाली थी, अब वो भी आआहह उह्ह्हह्ह आईईई करने लगी और चिल्लाने लगी थी। फिर में समझ गया कि वो झड़ने वाली है, अब में मेरी गायत्री जान को अपनी फुल स्पीड में चोदने लगा था। फिर फाइनली हम एक साथ झड़ गये और एक दूसरे को टाईट पकड़ लिया। फिर एक लावा फूटा जिसका एहसास हम दोनों को हुआ था। अब मेरा इतना माल कभी नहीं निकला था, अब उसकी चूत और उसके बाल पूरे मेरे और उसके माल से गीले हो गये थे। उसकी चूत पर मेरा माल देखने का मेरा सपना था जो आज पूरा हुआ था, फिर हम दोनों एक दूसरे से लिपटकर सो गये ।।

धन्यवाद …

Comments are closed.

error: Content is protected !!