इंशोरेंस एजेंट की चुदाई

0
Loading...

प्रेषक : राहुल …

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम राहुल है, में सोनीपत हरियाणा से हूँ, आज में आपको मेरी एक स्टोरी बताने जा रहा हूँ जिसमें मैंने एक इंशोरेंस एजेंट की उसके ऑफिस में चुदाई की। मुझे मेरी बाइक का इंशोरेंस रिन्यू करवाना था, तो में दिल्ली रोड पर एक जनरल इंशोरेंस कंपनी में चला गया। उस दिन शुक्रवार था और हर रविवार को ऑफीस बंद रहता था और सोमवार को में जा नहीं सकता था। तो क्लियर जिसका नाम रोहित कुमार था, उसने मुझे बोला कि आप मेरे पास कॉल कर लेना और सोमवार को ऑफीस से आने के बाद मेरे घर से ले जाना। अब मुझे क्या प्रोब्लम होती? तो मैंने उसका फोन नंबर नोट किया और अपने घर चला आया। रोहित एक 40-45 साल का बंदा था, वो बड़े बाल रखता था और पता नहीं क्यों? जिस तरह से वो मुझसे बात कर रहा था, मुझे यकीन था कि वो पक्का गे है, लेकिन मुझे तो अपनी पॉलिसी चाहिए थी तो मैंने उस पर इतना ज्यादा ध्यान नहीं दिया और घर आ गया।

फिर सोमवार शाम को 7 बजे मैंने उसको कॉल किया, तो वो बोला कि मेरे घर आ जाओ, तो उसने मुझे एड्रेस दिया और में उसके घर चला गया। फिर उसने मुझे अंदर आने के लिए बोला, तो मैंने मना कर दिया, तो वो अंदर से पॉलिसी ले आया और बोला कि पास में एक फास्ट फ़ूड वाला है वहाँ कुछ खा कर आते है, मुझे बहुत भूख लगी है। लेकिन मैंने उसे मना कर दिया, अब उसके पास मेरा नंबर तो था ही, तो वो मुझे रोजाना कॉल करने लगा। तो में भी कभी-कभी उसका फोन उठा लेता था, उसी टाईम मेरा ब्रेकअप हुआ था तो मेरा मूड अपसेट था। एक दिन शाम के 4 बजे मेरे पास उसका कॉल आया, तो उसने कहा कि कहाँ हो? तो तभी में उसके ऑफीस के पास में ही था। तो उसने बोला कि मेरे ऑफिस में आ जाओ ना प्लीज, तो में भी चला गया। अब वो अपना अधूरा काम कंप्लीट कर रहा था, अब वहाँ जा कर वो मुझसे बाते करने लगा कि आप बहुत अच्छे लगते हो और ऑल देट। तो अब में भी सामझ गया था तो मैंने सोचा कि गर्लफ्रेंड से तो कुछ मिला नहीं, तो थोड़ी देर यही मज़े कर लूँ।

वो – कैसे हो?

में – अच्छा हूँ।

वो – कभी हमें भी याद कर लिया करो, हम जैसे ग़रीबो से भी मिल लिया करो।

में – बस टाईम ही नहीं मिलता।

वो – मुझे तो बहुत भूख लगी है।

में – बताओ, क्या खाना है? में ले आता हूँ।

वो – जो आपका दिल करे।

में – नहीं फिर भी आपका मन भी तो कुछ करता होगा।

वो – मेरा तो मन है कि आपको ही खा जाऊं।

में – अच्छा, वैसे कहाँ से शुरू करोंगे फिर?

वो – जहाँ से आप बोलो।

में – ओके, लेकिन तुने खा लिया तो मेरे पास क्या बचेगा?

वो – अरे पूरा थोड़ी ना खाऊँगा बस ऊपर से चुसूंगा।

में – अच्छा, क्या?

वो – जो आप बोलोगें।

में – सोचता हूँ।

फिर में उठकर वॉशरूम में चला गया और दरवाजा ओपन ही छोड़ दिया, मुझे पता था कि ऑफीस में उसके अलावा कोई और नहीं है। अब में मूत रहा था, तो वो आया और बोला कि साफ कर लेना।

में – क्यों?

वो – मेरे लिए।

में – मुझे नहीं आता।

Loading...

तभी वो अंदर आ गया और उसने मेरा लंड पकड़ लिया। अब में आपको अपने बारे में भी बता दूँ मेरी हाईट 5 फुट 10 इंच है, बॉडी एवरेज और लंड साईज़ 7 इंच लम्बा है। फिर उसने मेरे लंड को पानी से अच्छे से धोया और फिर नीचे बैठकर एकदम से अपने मुँह में ले लिया। ये मेरा पहली बार था कि किसी ने मेरे लंड को पकड़ा हो और वो पूरा मेरा लंड अपने मुँह में डालकर चूसने लगा। अब मुझे तो बहुत मज़ा आने लगा था, अब पहली बार किसी ने मेरे लंड को चूसा था। अब मैंने उसके लंबे बाल पकड़ लिए जिससे मुझे लगा रहा था कि कोई लड़की ही मेरा लंड चूस रही है।

अब सबसे पहले उसने मेरा लंड का टोपा अपने होंठो के बीच में लिया और उसे किस करने लगा और अपनी जीभ बाहर निकालकर चाटने लगा। उसके बाद उसने मेरी तरफ़ देखा, तो में मुस्कुरा दिया, तो उसने फिर से मेरा पूरा लंड अपने मुँह में डाल लिया और पागलों की तरह चूसने लगा। अब में भी उसके बाल पकड़कर उसका मुँह को चोदने लगा था। अब मेरे मुँह से आहह्ह्ह्हह हुहुहू की आवाज़ निकलने लगी थी, वो सच में बड़ा मस्त चूस रहा था। अब वो बीच-बीच में मेरे लंड को छोड़कर मेरे बॉल्स को चूसने लग जाता था। अब उसको देखकर मुझे ऐसा लगा रहा था कि जैसे उसने कई जन्मों से लंड नहीं देखा हो, अब मुझे बहुत मज़ा आ रहा था। फिर थोड़ी देर तक मेरा लंड चूसने के बाद मैंने उसको उठाया और उसको कुर्सी पर बैठा दिया और उसके मुँह के पास लंड करके खड़ा हो गया। फिर जैसे ही उसने मेरे लंड को अपने मुँह में लेने के लिए खुद को आगे किया, तो में पीछे हट गया।

फिर मैंने उसकी तरफ़ देखा, तो उसका चेहरा ऐसे थे जैसे उससे पता नहीं क्या छीन लिया हो? अब मुझे उसका चेहरा देखकर उस पर दया आ गयी। अब मुझे भी पहली बार अपना लंड चुसवाने में बहुत मज़ा आ रहा था तो मैंने भी उसको ज्यादा नहीं तडपाया और उसके मुँह में अपना लंड डालकर धक्के देने लगा। अब मैंने उसका सिर अपने दोनों हाथों से पीछे से पकड़ लिया और ऐसे चोदने लगा था जैसे किसी की चूत हो। अब वो भी बड़े मज़े से चूस रहा था और आवाज़ निकाल रहा था, लेकिन मुँह में लंड होने की वजह से गगूउ हुउऊ उूउउ गुऊु की आवाज़ आ रही थी। फिर मैंने ज़ोर से उसका सिर पकड़ लिया और अपना लंड पूरा बाहर निकालकर एकदम ज़ोर के झटके से अंदर डाल दिया, इससे मेरा 7 इंच का लंड बिल्कुल उसके गले तक चला गया। अब वो अचानक लगे इस झटके को संभाल नहीं पाया और उसकी आँखो से आँसू निकल आए, लेकिन अब मुझे उसके मुँह चोदते हुए बड़ा मज़ा आ रहा था, अब में लगातार उसके मुँह को चोदता जा रहा था।

Loading...

अब मेरे मुँह से निकल रहा था बहनचोद मस्त चूस रहा है, ले बहन के लौड़े ले, आज तेरी फाड़ दूँगा, आअहह साली रंडी आआआ मज़ा आ गया तुझसे अपना लंड चुसाने में। फिर उसने तकरीबन 10 मिनट तक मेरा लंड चूसा और उसके मुँह की चुदाई के बाद उसके मुँह में ही झड़ गया और उसने मेरा सारा पानी पी लिया। अब वो बहुत तारीफ करने लगा और उसने मेरा लंड चूसकर पूरा साफ कर दिया ।।

धन्यवाद …

Comments are closed.

error: Content is protected !!