किरण को चोदा उसके भाई के सामने

0
loading...

प्रेषक : रवि …

हैल्लो दोस्तों, रोशनी मेरी गली में ही रहती है, वो मेरे दोस्त संजय से प्यार करती है और ये बात में जानता हूँ कि वो मुझसे काफ़ी क्लोज़ थी और वो मुझसे सब बातें शेयर करती है। एक दिन उसका बर्थ-डे था और  संजय अपने गावं गया था, तो में उसे छेड़ता रहा था। अब वो संजय से काफ़ी नाराज़ थी, अब वो मुझे बता रही थी कि उसका ना तो फ़ोन आया ना वो खुद आया। तो मैंने कहा कि तो क्या हुआ? में हूँ ना, तो वो नाराज़ हो कर चली गई। फिर शाम को में उसके लिए गिफ्ट लाया और उसे दिया, तो उसने मुझे थैंक्स कहा और थोड़ी बातें करके चली गई। अब में खुद नहीं समझ पा रहा था कि ये सब क्या हो रहा है? फिर एक दिन में अपने स्कूल जाने को तैयार था, में 12 बजे ही तैयार हो जाता था और उसके घर के बाहर ही अपने दोस्त का इंतजार करने बैठ जाता था, वो टाईम पर ही आता था तो मुझे उससे बात करने का आधा घंटा मिल जाता था।

उस दिन वो घर में अकेली थी और अपने कपड़े साफ कर रही थी, जब उसने नाइटी पहनी थी। अब जब वो झुक रही थी, तो मुझे उसके बूब्स दिख रहे थे दोस्तों वो बहुत हॉट लग रही थी। फिर उसने मुझे देख लिया और कहा कि आज स्कूल नहीं जाएगा क्या? तो मैंने कहा कि अब मन नहीं कर रहा, तो वो कुछ नहीं बोली। फिर में उसके घर में चला गया और उसे पकड़कर उसके बाथरूम में ले गया। तो वो कहने लगी कि कोई आ जाएगा। तो मैंने कहा कि में तुझे बहुत पसंद करता हूँ, तो वो कहने लगी कि में तो संजय से प्यार करती हूँ। तो मैंने कहा कि वो तुझे प्यार नहीं करता सिर्फ़ तेरा यूज़ कर रहा है वरना तुझे बर्थ-डे विश तो करता। तो उसने कहा कि तू जा यहाँ से, अब मैंने उसे ज़ोर से पकड़ रखा था। अब वो थोड़ी शांत थी, फिर मैंने उसके बूब्स पकड़ लिए और उसे दबाने लगा।

फिर थोड़ी देर के बाद वो बोली कि अब हो गया अब जा, तो मैंने कहा कि मुझे किस चाहिए जब जाऊंगा। तो वो मना करने लगी, लेकिन में नहीं माना तो उसने कुछ नहीं कहा। अब में समझ गया कि ये तैयार है तो मैंने उसके होंठो पर अपने होंठ रख दिए और किस करने लगा। फिर करीब 5 मिनट के बाद उसने कहा कि अब जा, तो में स्कूल के लिए निकल गया, लेकिन मेरा रुमाल वहीं गिर गया तो में उसे लेने वापस आया, तो उसने वो धो दिया था। तो मैंने कहा कि मुझे ऐसे ही दे दे रास्ते में सूख जाएगा। तो उसने कहा कि अब ये मेरा है और मुझे वापस नहीं दिया तो में बहुत खुश हुआ और चला गया। फिर शाम को जब में उसके पास गया, तो वो थोड़ा नाराज़ थी लेकिन मैंने कहा कि में तुझसे कुछ कहना चाहता हूँ। तो वो बोली कि पता है क्या बोलेगा? लेकिन में संजय से ही प्यार करती हूँ में तुझसे प्यार नहीं कर सकती, तो फिर में गुस्सा हो गया और वहाँ से चला गया।

loading...

अब करीब 2 दिन तक मैंने उससे बात नहीं की। फिर अगले दिन वो मेरे पास आई और बोली कि में प्यार नहीं कर सकती, लेकिन जैसा चल रहा है वैसा चलने दे। तो मैंने कहा कि नहीं मुझे मेरा वो रुमाल वापस कर और अब जा में तुझसे कभी बात नहीं करूँगा। तो वो बोली कि वो अब मेरा है और रोते हुए चली गई। अब शाम को वो अपने घर के बाहर बैठी थी शायद वो मेरे आने का इंतजार कर रही थी और मेरे आते ही उसने मुझसे कहा कि में उसके घर पर अभी आऊं। तो में तुरंत उसके घर आया और उसने मुझे एक ब्रेसलेट गिफ्ट दिया और कहा कि में उसे रख लूँ और मुझे एक किस की, तो मैंने भी उसको किस की। फिर उसने मुझसे कहा कि आज जागरण है और सब जागरण में जाएगे, तो मैंने कहा कि में भी आ जाऊंगा तो हम पूरी रात जागरण में थे। फिर अगले दिन अब उसके घरवाले काम पर जा चुके थे और सुबह घर पर बस उसका भाई था।

अब वो रात में जागने की वजह से सो रहा था, तो में उसके घर गया और उसके भाई को खेलने के लिए बुलाने लगा। तो उसने कहा कि वो सो रहा है अंदर आ कर जगा ले, तो में उसके घर में अंदर गया। अब वो नहा के आई थी और काफ़ी सुंदर लग रही थी। तो मैंने देखा कि उसका भाई तो गहरी नींद में है तो मैंने उसे पकड़ लिया और किस करने लगा। तो वो कहने लगी कि नहीं भाई जाग जाएगा, तो मैंने कहा कि मुझे कुछ नहीं पता और में उसे पकड़कर किस करने लगा और उसके बूब्स दबाने लगा। अब वो गर्म होने लगी थी, फिर मैंने उसे बेड पर लेटा दिया और उसे कपड़ो के ऊपर से ही किस करने लगा। अब में उसकी जांघो पर हाथ रगड़ने लगा था, तो वो सिसकियाँ लेने लगी और मैंने उसकी लोवर थोड़ी नीचे कर दी और उसकी पेंटी भी नीचे कर दी। अब उसकी चूत देखते ही में पागल हो गया और उसकी चूत में अपनी एक उंगली डाल दी। अब उसकी सिसकियों की आवाज़ तेज हो गई थी और में उसे किस करने लगा, अब मैंने उसका सूट भी ऊपर कर दिया था और उसके बूब्स को पीने लगा था।

loading...

अब काफ़ी देर तक उसके बूब्स पीने के बाद मैंने अपनी पेंट की चैन खोली और अपने 7 इंच के लम्बे लंड को उसकी चूत के पास लगाने लगा। अब वो तड़प रही थी, अब मैंने देर ना करते हुए अपना लंड उसकी चूत में डालने लगा, लेकिन मेरे लंड का सिर्फ़ टोपा ही उसकी चूत में जा रहा था, उसकी चूत काफ़ी टाईट थी तो मैंने उसकी चूत पर थूक लगाया और अपने लंड पर भी थूक लगाया और उसे फिर से डालने की पोज़िशन पर लगा दिया। अब मुझे पता था कि इसे दर्द होगा इसलिए मैंने अपने होंठ उसके होंठ से चिपका दिए थे और फिर एक ज़ोरदार झटका मारा तो मेरा आधा लंड उसकी चूत में चला गया और वो एकदम उछल गई और अपने हाथों से मुझे हटाने की कोशिश करने लगी, लेकिन में नहीं हटा और थोड़ी देर तक वैसे ही रुका रहा, फिर थोड़ी देर तक में उसे किस करता रहा और उसके बूब्स मसलते रहा।

loading...

फिर वो थोड़ी शांत हुई तो मैंने अपने लंड को अंदर बाहर करना शुरू कर दिया। अब वो भी मुझे अपनी गांड उठा-उठाकर रेस्पॉन्स कर रही थी और मुझे पीछे से पकड़कर अपनी चूत पर ज़ोर दे रही थी। फिर मैंने दुबारा से एक जोरदार झटका मारा और अपना पूरा लंड उसकी चूत में डाल दिया, तो वो फिर से उछल पड़ी। फिर उसने कहा कि और ज़ोर से कर, तो अब मेरा जोश दुगना हो गया और मैंने अपने झटको की स्पीड बढ़ा दी। फिर कुछ ही देर में मेरा पानी निकलने वाला तो मैंने अपना लंड बाहर निकालकर उसके घर के फर्श पर ही मेरा पानी गिरा दिया। अब वो कहने लगी कि ये ग़लत हुआ है, आज तूने जो किया है वो ग़लत है।

फिर मैंने कहा कि ऐसा कुछ नहीं है कुछ नहीं होगा। तो उसने कहा कि अब कुछ होगा, तो मैंने कहा कि कैसे होगा? तभी तो मैंने मेरे लंड का पानी बाहर गिरा दिया है, तो कहाँ से कुछ होगा? तो फिर वो थोड़ी शांत हुई। फिर उसके भाई ने करवट चेंज की, तो हम डर गये और खुद को ठीक करने लगे, लेकिन वो सोता ही रहा। फिर में वहाँ से निकल आया फिर शाम को मैंने उससे बात की तो वो कह रही थी कि मुझे काफ़ी मज़ा आया था और मैंने कहा कि तू कहे तो में रोज करूँ। तो उसने कहा कि रहने दे, फिर मैंने उससे कहा कि में रात में तेरे घर आऊंगा, तो वो मान गई। अब में रोज रात को 2 से 4 बजे के बीच में उसके घर पर जा कर उसकी चुदाई करता हूँ, अब वो भी बहुत खुश है और में भी बहुत खुश हूँ ।।

धन्यवाद …

Comments are closed.

error: Content is protected !!