पड़ोसन भाभी को कैसे चोदा

0
loading...

प्रेषक : दक्ष …

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम दक्ष है, में मुंबई का रहने वाला हूँ, मेरी बॉडी एवरेज है, लेकिन मेरा लंड 6 इंच लम्बा है जो कि किसी भी लड़की भाभी को सॅटिस्फाइड कर सकता है। मुझे सेक्स का बहुत शौक है इसलिए में हफ्ते में 2-3 बार तो सेक्स करता ही हूँ। यह कहानी मेरे पड़ोस में रहने वाली भाभी के बारे में है, जिसका नाम ज्योति है, जो बहुत ही आकर्षक फिगर वाली मादक औरत है, जिसे देखकर किसी का भी लंड खड़ा हो जाए। तो अब में सीधा अपनी स्टोरी स्टार्ट करता हूँ ये कहानी 7 साल पहले की है, जब में 12वीं क्लास में था। ज्योति अक्सर हमारे घर आती थी, लेकिन मैंने कभी उसे गलत नज़र से नहीं देखा था। फिर एक दिन जब वो हमारे घर आई, तब उसने ब्रा नहीं पहनी थी और उसके मोटे-मोटे बूब्स आज थोड़े और बड़े दिख रहे थे और उसके निपल्स भी साफ-साफ दिख रहे थे।

अब उसे ऐसे देखने के बाद मेरी आँखे खुली की खुली रह गई थी, अब वो आते वक़्त एक कटोरी भी लाई थी जो कि ग़लती से नीचे गिर गई थी और उसे उठाने के लिए वो नीचे झुकी थी। उफफफफफ्फ़ अब मुझे उसके बड़े-बड़े बूब्स आधे से ज़्यादा दिख रहे थे। अब मेरा लंड 90 डिग्री पर आ गया था और अब मुझसे कंट्रोल नहीं हो रहा था। अब उस दिन से में हर बार उसी के बारे में ही सोचता था और उसको चोदने के सपने देखता रहता था। उस वक़्त मुझे मुठ मारना भी नहीं आता था तो बस में मेरा लंड बिस्तर पर रगड़ता था, अब में सोचता था कि कब वो मुझे चोदने देगी? और कब में मेरा लंड उसकी चूत में डालूँगा? फिर एक दिन दोपहर को में उसके घर टी.वी देखने के बहाने गया। तब वो और उसकी बेटी बेड पर लेटे थे, अब अंदर की साईड उसकी बेटी लेटी थी और वो बाहर की साईड लेटी थी। अब बेड ऊँचा होने की वजह से उसने जिस साईड उसका सिर रखा था, उस साईड में जाकर खड़ा हो गया।

फिर थोड़े टाईम के बाद मैंने अपना हाथ आहिस्ता-आहिस्ता आगे बढ़ाया और उसके कान को थोड़ा टच किया, तो उसने कुछ रिएक्शन नहीं दिया। फिर में थोड़ी और हिम्मत करके उसके कान के पीछे की साईड सहलाने लगा, तो फिर भी वो कुछ नहीं बोली। फिर मेरी हिम्मत और बढ़ी और में अपना हाथ उसकी गर्दन पर थोड़ा टच करने लगा और अब में मेरा हाथ आहिस्ता-आहिस्ता उसके बूब्स की तरफ ले जा रहा था, तो उसने कुछ रिएक्शन नहीं दिया। लेकिन जब मेरा हाथ उसके बूब्स को टच होने लगा, तो तभी उसने मादक आवाज़ में मेरा नाम पुकारा दक्ष। उफफफफ्फ़ क्या बताऊँ दोस्तों? ऐसी आवाज़ सुनकर तो मेरा लंड खड़ा का खड़ा रह गया था, फिर वो उठकर बाथरूम जाकर आई और फिर से वही लेट गई।

loading...

अब इस बार मैंने अपना हाथ सीधा उसके बूब्स पर रखा और रब करने लगा। तो उसने पहले मुझे मना किया, लेकिन मैंने कुछ नहीं सुना और अब बस में दबाए जा रहा था। अब उसे भी बहुत मज़ा आने लगा था, फिर मैंने उसे ज़मीन पर लेटने को कहा और उसे चूमने लगा। अब में उसे किस करने लगा था, अब करीबन 15 मिनट तक हम लोग किस कर रहे थे। फिर मैंने उसका टॉप और लहंगा निकाला, अब वो सिर्फ़ ब्रा और पेंटी में थी, ऑश उसका गोरा-गोरा बदन, बड़े-बड़े बूब्स मुझे पागल कर रहे थे। अब मेरा मन कर रहा था कि उन्हें खा जाऊं, फिर मैंने फ्रिज में से थोड़ा बर्फ लिया और अब में अपने मुँह में बर्फ रखकर आहिस्ता-आहिस्ता उसकी गर्दन से होता हुआ नीचे आ रहा था। अब उसके मुँह से आहह्ह्ह आअहह आहह की आवाज़ आ रही थी और अब मुझसे ज़रा भी कंट्रोल नहीं हो रहा था। फिर मैंने उसकी ब्रा और चड्डी फाड़ दी, अब वो पूरी नंगी मेरे सामने थी। अब में पागलों की तरह उसके बूब्स चूस रहा था और वो मेरे बालों पर अपना हाथ फैर रही थी, अब मुझे बहुत मज़ा आ रहा था।

loading...
loading...

फिर उसने मेरा लंड अपने मुँह में लिया और चूसने लगी, ऑश गॉड क्या एक्सपीरियन्स था? अब मुझे ऐसा लग रहा था जैसे में जन्नत की सैर कर रहा हूँ, उफ़फ्फ़ अब मेरा मन कर रहा था कि वो ज़िंदगी भर ऐसे ही मेरा लंड चूसती रही। फिर करीबन 10 मिनट तक उसने मेरा लंड चूसा, फिर वो मुझे कहने लगी कि प्लीज मुझे और मत तड़पाओ, अब मुझसे और कंट्रोल नहीं हो रहा है, प्लीज़ अब मुझे चोद दो प्लीज़। फिर मैंने उसके पैर फैलाए और आहिस्ता-आहिस्ता अपना लंड उसकी चूत में घुसाने लगा। फिर मैंने एक धक्का मारकर अपना पूरा लंड उसकी चूत में डाल दिया तो उसकी चीख निकल गई आआअहह मुझे बहुत दर्द हो रहा है धीरे-धीरे करो, उसके पति ने उसके साथ बहुत दिन से सेक्स नहीं था। फिर में आहिस्ता-आहिस्ता धक्के लगाने लगा, अब वो जोर-जोर से सिसकियां ले रही थी।

फिर मैंने मेरी स्पीड तेज कर दी और वो जोर-जोर से चीखने लगी आहह ऊओह आइईगगा धीरे-धीरे आआहह बसस्स बसस्स प्लीज। लेकिन में उसकी एक नहीं सुन रहा था और ज़ोर-जोर से उसको चोद रहा था। फिर मैंने उसे घोड़ी बनाया और उसे डॉग शॉट लगाने लगा, जो कि मुझे बहुत पसंद है। अब में उसे बहुत जोर-जोर से चोद रहा था, अब वो बहुत जोर जोर से चिल्ला रही थी आईईगगा आआहह आअहह। फिर करीबन 15 मिनट के बाद में झड़ गया और वैसे ही उसके ऊपर लेट गया। फिर उस दिन मैंने उसे 2 बार और चोदा, अब में उसे हफ्ते में 2-3 बार चोद लेता था। फिर ऐसे मेरा मेरी प्यारी भाभी को चोदने का सपना पूरा हो गया। अब में उस मकान में नहीं रहता हूँ इसलिए अब मेरा उस भाभी से कोई संपर्क भी नहीं है और अब वो भाभी भी कही और रहने लगी है ।।

धन्यवाद …

Comments are closed.

error: Content is protected !!