प्रेषक : मनोज कुमार सेनी हेलो दोस्तो, मेरा नाम मनोज कुमार सेनी हैं. और मै दिल्ली रहता हूँ. मेरी उम्र 23 वर्ष है. और मैं 5′ 7″ हूँ. मैं आज अपनी पहली स्टोरी इसमे मे डाल रहा हूँ, अब तुम लोगो को आनंद दिलाता हूँ. और इस कहानी मे मैं आपको बताऊंगा की कैसे मैने अपनी एक गर्लफ्रेंड के साथ…

प्रेषक : गौरव दोस्तों आप “पत्नी और डोली भाभी 3” तो पड़ ही चुके है। अब आपके लिए पेश है उससे आगे की कहानी। . . .फिर मैने डोली भाभी से कहा, तुमने मुझसे प्रिया के सामने ही चुदवा लिया. वो क्या सोचेगी. डोली भाभी ने कहा, उसे कुछ भी नहीं मालूम है. अगर उसे कुछ पता होता तो भला वो…

प्रेषक : गौरव दोस्तों आप “पत्नी और डोली भाभी 2” तो पड़ ही चुके है। अब आपके लिए पेश है उससे आगे की कहानी। . . . तो डोली भाभी बाहर बैठी थी. उन्होने मुझसे पूछा, काम हो गया. मैने कहा, हाँ. वो बोली, मैं गरम पानी से उसकी चूत की सिकाई कर देती हूँ. इससे उसका दर्द कम हो जायेगा.…

प्रेषक : गौरव दोस्तों आप “पत्नी और डोली भाभी 1” तो पड़ ही चुके है। अब आपके लिए पेश है उससे आगे की कहानी। . . . तो डोली भाभी ने कहा, अच्छा तुम दोनो बाहर आ जाओ. मैने अपना लंड उसकी गांड से बाहर निकाला और हट गया. मेरे लंड पर ढेर सारा खून लगा हुआ था. उसके बाद हम…

प्रेषक : गौरव हम लोग गावं के रहने वाले हैं. हमारा गावं शहर से 44 किलोमीटर दूर है. पास के ही एक गावं में भैया की शादी हो गयी. डोली भाभी बहुत ही अच्छी थी और खूबसूरत भी. भैया की उम्र 22 साल की थी. वो उम्र में भैया से 4 साल छोटी थी. मैं डोली भाभी से उम्र में…

प्रेषक : गोरव हेलो प्यारे दोस्तो ओर प्यारी चूत वाली आंटियो ओर लडकियों सब को मेरा सलाम. अब मे आप लोगों को असली मज़े की कहानी जो सुनाऊंगा वो मेरी स्टोरी के तीसरे पार्ट की सब से मज़े की हे जो की मेरी ओर आंटी रुबीना की हे अब तक मे 2 चूत को मार मार कर शान्त कर चुका…

प्रेषक : गोरव हेलो दोस्तो तो मे अब दोबारा आप को बाकी की स्टोरी सुनाने आया हूँ. तो हुआ यूँ की नसरीन की चूत तो मार के मे उसे शान्त कर चुका था अब बारी थी आंटी रुबीना की बहन की बारी जो की मेरा लंड चूसना शुरु कर चुकी थी. ओर मे साथ साथ उसकी नरम नरम बड़ी साइज़…

प्रेषक : गोरव हेलो दोस्तो आज मे अपनी एक रियल स्टोरी बताने जा रहा हूँ. जो की इसी 1 महीने के दोरान पेश हुई है. रुबीना आंटी ने मुझे मिस कॉल किया तो मेने  रुबीना आंटी को तुरन्त फ़ोन किया तो पहली ही घन्टी पर आंटी ने फोन उठाया ओर कहा की कहाँ हो इतने दिनो से तुम ओर मैने…

प्रेषक : प्रदीप हेल्लो दोस्तों मेरा नाम प्रदीप हे. मे पहले भी अपनी रियल स्टोरी लिख चुका हूँ.  तो मेरी पहली रियल स्टोरी पढ के एक फीमेल रीडर ने मुझे ईमेल किया की मे आपसे मिलना चाहती हूँ क्या आप मुझसे मिल सकते हैं मैने अपने ईमेल मे रिप्लाइ दिया की आप जब चाहे तब मुझसे मिल सकते हैं. उस…

प्रेषक : गुमनाम यह घटना अब से करीब 4 साल पहले की है. मेरी बहन कपड़ो पर इतना ध्यान नही देती थी।  बहुत बार ऐसे बैठती थी की उसके बोब्स या फिर पेंटी नज़र आते थे। मै इन्हे देखकर गर्म हो जाता था. कभी-कभार बाथरूम मे जाकर मुठ मार लेता। अक्सर मै खेल-खेल मे अपनी रूपाली को छू-लेता या फिर…