पूनम की सील मजे से तोड़ी

0
Loading...

प्रेषक : शान …

हैल्लो दोस्तों, में कामुकता डॉट कॉम का नियमित पाठक हूँ और यह 2 महीने पहले की बात है। मेरा नाम शान है, में शादीशुदा नहीं हूँ। मेरी उम्र 23 साल है और में पंजाबी लड़का हूँ, में दिल्ली का रहने वाला हूँ और में मेरे पापा के बिजनेस में उनकी मदद करता हूँ। में दिखने में स्मार्ट हूँ और मेरे लंड का साईज 7 इंच लम्बा और 3 इंच मोटा है और बिल्कुल लोहे की तरह सख्त है। अब में आपको ज्यादा बोर ना करते हुए सीधा अपनी स्टोरी पर आता हूँ। पूनम की माँ बड़ी बातूनी थी और कहीं भी किसी के घर में घुस जाती थी। तो ऐसे ही वो मेरे घर में घुस आई थी और मेरे घरवालों से मिलना शुरू किया और कुछ माँगना शुरू हो गया जैसे शक्कर या दूध। में अकाउंट में अच्छा था और पूनम 12वीं क्लास में थी और उसके बोर्ड के एग्जॉम थे। तभी उसकी माँ ने कहा कि मेरी बेटी अकाउंट में कमजोर है, इसलिए पूनम को उसकी कोचिंग दे दो, तो में मान गया।

अब उसको कोचिंग देकर मेरी भी प्रेक्टीस हो जाती थी और पूनम जैसी सुन्दर लड़की को पास बैठाकर मुझे मजा आएगा ऐसा में सोचने लगा था और पूनम थी भी बहुत गौरी, शॉर्ट हाईट लगभग 5 फुट 2 इंच और उसका फिगर 34 बूब्स, 25 कमर और 36 गांड और वो स्कर्ट और टॉप पहना करती थी। फिर अगले दिन से वो पढ़ने आने लगी। अब में उसको पढ़ाता था और उसको देखता रहता था, वो बहुत खूबसूरत थी। अब में उसको पूरे ध्यान से पढ़ाता था। अब मुझको को वो अच्छी भी लगती थी। अब जब वो पढ़ती थी, तो तब में उसके पैर देखता था, उसके पैर बहुत ही गोरे थे, उसकी स्कर्ट उसकी जांघो से थोड़ी नीचे थी। अब एक बार तो में उसको देखता ही रह गया था। फिर उसने मुझसे कुछ पूछा, अब मेरा ध्यान उसकी टाँगो पर ही था तो में ध्यान नहीं दे सका। फिर उसने दो बार बुलाया भैया-भैया। फिर मैंने एकदम से देखा और कहा कि हाँ क्या हुआ? तो वो बोली कि क्या हुआ? आप क्या देख रहे हो?

फिर मैंने कहा कि कुछ नहीं, कुछ नहीं, तो वो बोली कि कुछ तो देख रहे थे, बताओ ना, बताओ। तो मैंने कहा कि पूनम तुम्हारे पैरों पर एक भी बाल नहीं है। फिर तभी वो बोली कि मैंने साफ किए है, वो स्कूल की स्कर्ट ऊँची है ना इसलिए मैंने बाल साफ किए है। फिर मैंने कहा कि ओके। अब माहौल थोड़ा अच्छा था तो मैंने उससे पूछा कि तुम्हारे स्कूल में कोई बॉयफ्रेंड है? तो वो बोली कि बहुत है। फिर मैंने कहा कि बहुत है? तो वो बोली कि हाँ बहुत है, सारे लड़के मेरे फ्रेंड है। ओह्ह्ह तो मैंने कहा कि वो नहीं में बॉयफ्रेंड की पूछ रहा था। फिर उसने कहा कि मैंने भी तो बॉयफ्रेंड का बताया है। फिर मैंने कहा कि में वो वाले बॉयफ्रेंड की कह रहा था। फिर उसने कहा कि वो वाला कैसा वाला? ओह अब में मन में सोचने लगा था कि यह या तो पागल बन रही है या बना रही है।

Loading...

फिर तभी मैंने कहा कि छोड़ो, तो उसने कहा कि नहीं पहले आप बताओं क्या कह रहे थे? तो मैंने कहा कि वो फ्रेंड जो तुमको प्यार करता हो। फिर उसने कहा कि मेरी कई फ्रेंड बात करती तो है, लेकिन मुझको समझ नहीं आता है। फिर मैंने कहा कि ठीक है छोड़ो, अब पढ़ो, तो वो बिना मन के पढ़ने लगी और में उसके पैर देखकर अपने लंड को खड़ा कर रहा था। फिर 2 हफ्ते के बाद मेरी दीदी कजिन की शादी में दिल्ली चली गई और उनको वहाँ से 2-3 दिन के बाद वापस आना था। अब मुझे कोई काम था तो में नहीं गया। जब शनिवार का दिन था तो में 2 बज़े घर वापस आ गया। फिर तभी किसी ने बेल बजाई तो मैंने उठकर दरवाज़ा खोला, तो सामने पूनम थी। अब उसके हाथ में बुक्स थी, वो कुछ समझने आई थी। तो मैंने उससे बोला कि दीदी घर पर नहीं है। तो वो बोली कि मुझे पता है और उसने एक नॉटी सी स्माइल दे दी। अब में इससे पहले कुछ कहता वो सीधा अंदर आ गई और फिर वो बोली कि नो पढ़ाई आज सिर्फ़ इन्जॉय करेंगे और फिर वो सोफे पर टी.वी ऑन करके बैठ गयी। अब पूनम और में मूवी देख रहे थे। दोस्तों ये कहानी आप कामुकता डॉट कॉम पर पड़ रहे है।

अब उसके नर्म-नर्म हाथ मेरे लंड पर थे, उफफफफफफफफ्फ, अब में मस्ती में आ गया था। फिर मैंने सोचा कि इसको चोदा जाए, तो तभी मैंने कहा अब अपनी स्कर्ट उतारो, में देखता हूँ कैसे निकलेगा? तो वो मेरी बातों को मानने लगी और अपने एक हाथ से मेरे लंड को पकड़ रही थी और अपने दूसरे हाथ से अपनी स्कर्ट उतार रही थी। फिर मैंने उसके हाथ पकड़कर झटके के साथ उसकी स्कर्ट नीचे कर दी। अब उसकी ब्लू प्रिंट की पेंटी उफफफफफ्फ क्या लग रही थी? फिर मैंने उसकी पेंटी दोनों साईड से पकड़ी और उतार दी, उसकी चूत पर बाल नहीं थे। फिर मैंने कहा कि इस पर बाल नहीं है। तो उसने कहा जब पैर के बाल साफ करती हूँ तो तभी इसके बाल भी साफ कर लेती हूँ, मुझको इस पर रेजर लगाते हुए बहुत मजा आता है। तो मैंने कहा कि यही होता है मजा प्यार में भी, बस प्यार में यह मजा बहुत ज़्यादा होता है।

फिर मैंने उसकी चूत पर अपना एक हाथ फैरा, तो वो मचल गई और कहने लगी कि गुदगुदी होती है। तो मैंने उसको लेटा दिया और उसकी चूत पर अपना एक हाथ फैरता रहा और अपना एक हाथ उसके बूब्स पर ले गया और उसके बूब्स दबाने लगा। अब मेरे हाथ के फैरने से उसको बहुत मजा आ रहा था और उसको पता ही नहीं चला कि कब मेरा एक हाथ उसकी टॉप में घुस गया है? अब में उसके बूब्स को उसकी ब्रा के ऊपर से ही सहला रहा था। अब वो बोल रही थी आह हाँ बहुत मजा आ रहा है, बहुत अच्छा लग रहा है। फिर तभी मैंने कहा कि अपना टॉप को भी उतारो, तो उसने एकदम से अपने टॉप को उतारा और फिर अपनी ब्रा भी उतार दी और लेट गई। फिर में अपना हाथ फैरते-फैरते अपना मुँह उसकी चूत पर ले गया और चाटने लगा, तो वो मचलने लगी। फिर मैंने अपनी जीभ उसकी चूत के लिप्स पर लगाई, तो वो और कसमासाई, तो मैंने अपनी जीभ और अंदर डाल दी।

अब वो मजे से पागल हो गई थी। अब मेरा लंड भी पूरी मस्ती में था, तो तभी मैंने सोचा कि अब डाल ही दो, जो होगा देखा जाएगा। फिर में उसके ऊपर लेट गया और फिर मैंने अपने लिप्स से उसके लिप्स मिलाए। अब वो मजे में मदहोश थी, अब उसकी चूत पानी छोड़ रही थी। फिर मैंने फ्रेंच किस्सिंग स्टार्ट की और उसका मुँह एकदम से अपने मुँह से बंद करके अपना लंड उसकी मस्त चूत पर रखकर उसकी चूत में धीरे से डालने लगा, तो वो एकदम से मचलने लगी, फिर मैंने देखा कि यह धीरे का काम नहीं है तो मैंने एक ज़ोर का झटका मारा तो मेरा लंड पूरा उसकी चूत में घुस गया। तो तभी उसके मुँह से चीख निकलती, लेकिन मैंने अपना मुँह उसके मुँह से लगाया था जिससे उसकी आवाज रुक गई। फिर में अपना लंड उसकी चूत में डाले ही पड़ा रहा और उसका मुँह चूसता रहा और उसके बूब्स को ज़ोर-ज़ोर से सहलाने लगा था।

फिर 10 मिनट के बाद मैंने महसूस किया कि वो अपनी गांड को उछाल-उछालकर मेरे लंड पर धक्के दे रही है। फिर में समझ गया कि अब उसको दर्द कम है और उसको मजा आ रहा है। तो में धक्के मारता रहा और उसका मुँह छोड़कर उसके बूब्स चूसता रहा। फिर तभी 10-12 मिनट के बाद एक तूफान सा आया, तो मैंने देखा कि पूनम मछली की तरह तड़प रही थी। अब में समझ गया था कि उसका डिसचार्ज होने को है। अब उसकी तड़प से मेरी स्पीड भी तेज़ हो गई थी और में भी डिसचार्ज होने पर पहुँचने लगा था और फिर हम दोनों का पानी एक साथ निकल गया। अब 7 बज़ गये थे, अब उसके मम्मी पापा के आने का टाईम हो गया था। अब वो सोफे पर वापस आकर अपनी बुक्स लेकर बैठ गई थी। फिर मैंने बेडरूम से खून वाली बेडशीट उठाई और उसे धोने लगा। फिर हमें जब कभी भी कोई मौका मिला तो हमने खूब चुदाई की ।।

Loading...

धन्यवाद …

Comments are closed.

error: Content is protected !!