साली की दोस्त को चोदा

0
Loading...

प्रेषक : दीपक …

हैल्लो दोस्तों, आप लोगों में मेरी पहली कहानी “साली को चोदा” तो पढ़ी ही होगी, उसमें मेरी साली ने  अपने दोस्त के बारे में बताया था, यह उसकी कहानी है। फिर एक दिन में अपनी साली की गांड मार रहा था, अब उसे बहुत मज़ा आ रहा था, वो ओह ओह आह आह कर रही थी और फिर थोड़ी देर में में झड़ गया। तो तब मेरी साली कहने लगी कि जीजू मेरी दोस्त भी तुमसे चुदवाना चाहती है। तो मैंने कहा कि लेकिन हम मिलेंगे कहाँ? तो तब उसने बताया कि उन लोगों ने एक अलग कमरा ले लिया है। तो तब मैंने अगले दिन का वादा कर लिया और अगले दिन उनके कमरे पर पहुँच गया, वो दोनों वहाँ पर ही थी। फिर मैंने पूछा कि तैयार हो, तो उसकी दोस्त थोड़ी सी शरमाई। तो मेरी साली बोली कि अब क्यों शर्मा रही है? पहले तो कहती थी कि मुझे भी चुदवाना है और यह कहकर उसका ऊपर का टॉप उतार दिया। तो मैंने देखा कि उसकी चूची काली ब्रा में बहुत सुंदर दिख रही थी, अब मेरे लंड में थोड़ा तनाव आने लगा था।

फिर मैंने कहा कि पहले तुम दोनों जैसे करती हो, वैसा करो। तो वो दोनों तैयार हो गयी और फिर वो दोनों अपने-अपने कपड़े उतारने लगी। तो मैंने देखा कि उसकी दोस्त की चूत पर एक भी बाल नहीं था, उसकी चूत पिंक कलर की थी। अब उसकी चूत देखकर तो मेरा लंड पूरा खड़ा हो गया था। फिर वो दोनों एक दूसरा को चूमने लगी, फिर उन्होंने अपनी चूत आपस में मिलाई और रगड़ने लगी और एक दूसरे के होंठो को चूसने लगी। फिर उन्होंने एक दूसरे की चूत में उंगली चलानी शुरू कर दी। अब वो दोनों गर्म होने लग गयी थी और ओह, आह करने लगी थी। तो तब मेरी साली ने कहा कि जीजू आओ ना। तो मैंने भी अपने कपड़े उतार दिए और बेड पर उनके साथ आ गया।

Loading...

फिर मैंने अपना खड़ा लंड अपनी साली के हाथ में पकड़ा दिया। तो वो उसे चूसने लगी और में उसकी दोस्त के होंठो को चूसने लगा और चूसता-चूसता नीचे उसकी चूची पर आ गया और उसकी चूचीयों के निप्पल को चूसने लगा। अब वो सी सी करने लगी थी और कहने लगी कि और ज़ोर से चूसो, आपसे चुसवाने में तो जन्नत सा मज़ा आ रहा है मेरे राजा, हाँ खा जाओ। फिर मैंने उसकी चूत में अपनी जीभ घुसा दी और उसकी चूत को चूसने लगा। अब उसकी चूत ने नमकीन सा पानी छोड़ दिया था। फिर वो कहने लगी कि अब मेरी चूत में अपना लंड घुसा दो। तो मैंने उसकी चूत पर अपना बहुत सारा थूक डाला और अपना लंड उसकी चूत पर रखा और एक धक्का लगाया तो मेरा लंड आधा ही उसकी चूत में घुस पाया और वो जोर-जोर से चिल्लाने लगी, क्योंकि उसकी चूत बहुत टाईट थी, तो मैंने उसके होंठ चूसने शुरू कर दिए।

Loading...

अब जब उसे मज़ा आने लगा था, तो में अपना लंड धीरे-धीरे अंदर बाहर करने लगा और अपनी साली को उसके होंठ चूसने को कहा। फिर जब मेरी साली उसके होंठो को चूसने लगी तो मैनें एक और तेज धक्का लगाया तो मेरा पूरा लंड उसकी चूत में घुस गया, लेकिन मेरी साली ने उसे चिल्लाने नहीं दिया।  अब उसकी चूत से खून आने लगा थी, अब उसकी कुंवारी झिल्ली फट गयी थी। फिर में तेज-तेज धक्के लगाने लगा। अब उसे भी मज़ा आने लगा था, अब वो भी अपनी गांड उठा-उठाकर धक्के लगाने लगी थी और ओह, आहह, आहह मेरी चूत फाड़ दो, आग लगा दो बोले जा रही थी और फिर वो थोड़ी देर में झड़ गयी, लेकिन में अभी तक नहीं झड़ा था तो मैनें अपनी साली को देखा, तो वो बोली कि जीजू मेरी गांड मारो और यह कहकर डॉगी बन गयी, तो में उसकी गांड पर अपना लंड रखकर धक्के लगाने लगा। अब हम दोनों को बहुत मज़ा आने लगा था और फिर थोड़ी देर के बाद हम दोनों एक साथ झड़ गये और फिर हम तीनों बेड पर लेटकर सो गये।

धन्यवाद …

Comments are closed.

error: Content is protected !!