सेक्सी पड़ोसन की गांड में तेल लगाया

0
loading...

प्रेषक : बबलू …

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम बबलू है। में दिल्ली में रहता हूँ और में एक जवान और सुंदर लड़का हूँ, मेरी उम्र 24 साल है, में बी.ए. कर रहा हूँ और मेरे लंड का साईज 9 इंच लंबा और 5 इंच मोटा है। अब में आपको ज़्यादा बोर ना करते हुए सीधा अपनी कहानी पर आता हूँ। ये कहानी आज से कुछ 6 महीने पहले की है। में रोज सुबह 8 बजे निकल जाता था और फिर दोपहर में आता था। मेरे पड़ोस में मिस्टर ख़ान रहते है, वो बिजनसमैन है। उनकी एक मस्त सी वाईफ है हीना, जो पास के एक स्कूल में टीचर है, वो सुबह 8 बजे स्कूल जाती है और दोपहर में 1 बजे घर आ जाती है और फिर दिनभर घर में अकेली रहती थी।

फिर एक दिन मेरा हॉलिडे वाला दिन था तो में आराम से सो रहा था। फिर माँ ने मुझे जगाया और बोली कि दरवाजा लॉक कर लो, में ऑफिस जा रही हूँ। मैंने उठकर दरवाजा लॉक किया और फिर से सो गया। फिर करीब 30 मिनट के बाद डोरबेल बजी तो मैंने दरवाजा खोला और देखा तो हीना सामने खड़ी थी। अब में हैरान हो गया था और सोच रहा था कि यह हॉट लेडी आज मेरे घर पर कैसे आई? अब में नींद में यह भी भूल गया था कि में सिर्फ़ अंडरवेयर में हूँ। अब वो मुझे बड़ी ध्यान से देख रही थी कि तभी वो अचानक से हंसने लगी और बोली कि घर में कपड़े नहीं है क्या? तो तब मैंने नीचे देखा और भागकर अपने रूम में गया और पजामा और बनियान पहनकर आया। तब तक वो हॉल में बैठ गयी थी। फिर मैंने पूछा कि कहिए कैसे आना हुआ? तो वो बोली कि कल हमारे स्कूल में पार्टी है तो में उसकी टिकट बेच रही हूँ, अब 2 टिकट बची थी तो सोचा कि आपको दे दूँ। तो तब मैंने कहा कि आपने बिल्कुल ठीक सोचा और फिर मैंने उनसे टिकट ले ली।

फिर थोड़ी देर तक बातचीत हुई, अब मेरी उससे अच्छी फ्रेंडशिप हो गयी थी। फिर हमारी मुलाकात के कुछ दिन के बाद वो मेरे कमरे में बैठी थी। अब में उसके साथ मस्ती कर रहा था तो मस्ती-मस्ती में मैंने उसकी चूचीयों को दबाया और फिर वो उठकर चली गयी। फिर दूसरे दिन वो मेरे कमरे में फिर से आई, लेकिन जब वो आने वाली थी, उसके पहले मैंने अपने कंप्यूटर पर सेक्सी मूवी लगाकर रखी थी। फिर जब वो कमरे में आई तो उसने देखा कि सेक्सी फिल्म चल रही है। तब मैंने वो झट से बंद कर दी। अब मुझे पता था कि वो मुझसे पूछेगी कि तुम क्या देख रहे थे? और उसने वही पूछा। मैंने कहा कि कुछ नहीं, वो तुम्हारे काम की चीज नहीं है, तो वो ज़िद करने लगी। तब मैंने उससे कहा कि में सेक्सी मूवी देख रहा था। तब वो बोली कि मुझे भी देखनी है। फिर मैंने मूवी फिर से ऑन की।

फिर थोड़ी देर के बाद में उसके करीब जाकर बैठा। उसने मुझसे पूछा कि क्या तुमने कभी ऐसा किया है? तो मैंने कहा कि हाँ और अब में समझ गया था कि वो मेरे साथ सेक्स करना चाहती है। फिर में उसे झट से पकड़कर किस करने लगा। तो वो पहले तो नहीं-नहीं करने लगी, लेकिन में नहीं माना, तो वो नॉर्मल हो गयी और फिर उसने मेरी तरफ देखा, तो मुझे डर लगने लगा। फिर उसने कहा कि में तुम्हारे घरवालो से कहूँगी, अब मेरी फटने लगी थी, तो में वहाँ से भाग गया। फिर उसने मुझे मेरे मोबाईल पर फोन करके बुलाया और फिर उसने मुझसे कहा कि में तुम्हारे साथ सेक्स करने को तैयार हूँ, मगर तुम किसी से कहना मत। फिर में धीरे-धीरे उसे चूमता रहा और फिर जब मुझे एहसास हुआ कि वो पूरी गर्म हो चुकी है, तो तब मैंने उसके कपड़े उतारना शुरू किया। उसने टाईट जीन्स और टॉप पहन रखी थी, जिसमें वो बहुत सेक्सी लग रही थी। फिर उसके कपड़े उतारने के बाद उसकी कोमल नाज़ुक जवानी देखकर में थोड़ी देर दंग सा रह गया। उसका फिगर बिल्कुल आइडीयल फिगर था, उसका फिगर यही कोई 36-28-34 था, उसके बूब्स तो बड़े-बड़े और गोरे-गोरे थे, उसकी चूत पर एक भी बाल नहीं था और गुलाबी रंग जैसी रसीली चूत थी।

फिर मैंने अपने कपड़े भी उतार दिए। फिर जैसे ही मैंने अपना अंडरवेयर उतारा तो वो मेरा 9 इंच लंबा और 5 इंच मोटा लंड देखकर दंग रह गयी और उसके मुँह से एक हाईईईईई की आवाज निकली और बोली कि क्या में इसको झेल पाऊँगी? तो तब में बोला कि मेरी जान अगर तुम खुद अपने कूल्हें उठा- उठाकर मेरा पूरा लंड अपनी चूत में ना लो तो मेरा नाम बदल देना। फिर मैंने उसे अपना लंड मुँह में लेने के लिए कहा। तब वो बोली कि तुम्हारा लंड कितना बड़ा है? में तो मर जाउंगी। तब मैंने कहा कि चिंता मतकर मेरी जान, में धीरे-धीरे करूँगा और फिर वो मेरा लंड अपने मुँह में लेकर 20 मिनट तक चूसती रही, लेकिन वो किसी अनुभव वाली लड़की की तरह ये सब कर रही थी। फिर थोड़ी देर के बाद हम 69 पोजीशन में आ गये। अब वो मेरे ऊपर थी और मेरा लंड खूब ज़ोर-ज़ोर से जितना हो सकता था, उतना अपने मुँह में लेकर चूस रही थी।

अब में भी उसकी चूत चाटने और चूसने लगा था, तो वो झटपटाने लगी। फिर में मेरी जीभ उसकी चूत में डालकर उसे अपनी जीभ से चोदने लगा। अब वो अपने मुँह से आह, ऊहहहह, आआअहह की आवाजें निकाल रही थी। अब उसे 2 मज़े मिल रहे थे एक तो चूत चाटने का और दूसरा लंड चूसने का। अब मेरा लंड लोहे की तरह सख़्त हो गया था। फिर मैंने उसे बेड पर लेटा दिया और मेरा लंड उसकी चूत पर रखकर धीरे-धीरे अंदर डालने की कोशिश कर रहा था। लेकिन उसकी चूत टाईट होने के कारण वो अंदर नहीं जा रहा था। फिर में उठा और तेल लाकर थोड़ा तेल उसकी चूत पर लगाया और कुछ अपने लंड पर भी लगाया और फिर उसकी चूत के छेद पर अपना लंड रखने के बाद उसके लिप पर मेरे लिप रखकर उसे किस करने लगा था और एक ज़ोर का झटका दिया। दोस्तों ये कहानी आप कामुकता डॉट कॉम पर पड़ रहे है।

loading...

फिर मेरा पूरा लंड उसकी चूत में अंदर तक चला गया। तभी उसके मुँह से एक चीख निकल गयी, लेकिन उसकी चीख मेरे मुँह के अंदर ही दब गयी थी। तब में थोड़ी देर तक ऐसे ही उसकी टाईट और रसीली चूत में मेरा बड़ा और मोटा लंड डाले हुए बिना हीले डुले उसके ऊपर ही पड़ा रहा और उसके बूब्स दबाता रहा और उसे किस करता रहा। फिर थोड़ी देर के बाद उसे जब अच्छा लगने लगा तो तब मैंने झटके देना शुरू किया। अब में मेरा बड़ा और मोटा लंड अंदर बाहर करके उसे चोद रहा था और अब वो भी नीचे से उसके कूल्हें उठा-उठाकर मज़े ले-लेकर मुझसे मज़ा ले रही थी। अब उसके मुँह से बड़ी अज़ीब सी अवाजें आ रही थी ऊओ मेरे राजा, आज अपनी रानी को और ज़ोर से चोदो, आज तुमने मुझे स्वर्ग का मज़ा दिया है, आअहह, अब तो में तुमसे ही रोज़ाना चुदवाया करूँगी, फाड़ दो अपनी रानी की चूत को, बना दो उसका भोसड़ा। अब उसके मुँह से ऐसी बातें सुनकर मुझे बड़ा जोश आ रहा था और अब में ज़ोर-ज़ोर से उसकी चूत चोद रहा था। अब मेरे हर धक्के में वो 1-2 इंच ऊपर हो रही थी।

फिर करीब 40 मिनट की चुदाई के बाद वो बोली कि मेरे राजा अब में झड़ने वाली हूँ ऊहह, आअहह, लो में झड़ गयी। अब उसने मुझे अपने दोनों पैरों के बीच में जकड़ किया था, तो तब में भी रुक गया। फिर जब वो पूरी तरह से झड़ गयी तो तब वो बोली कि राज मेरी जान आज तुमने मुझे बहुत मजा दिया है। तब मैंने उससे पूछा कि तुम खुश तो हो ना? तो वो बोली कि आज से पहले में कभी भी इतनी खुश नहीं हुई। तब में बोला कि ठीक है, अभी मेरा झड़ना बाकी है, अब तुम डॉगी स्टाइल में हो जाओ, में तुम्हें पीछे से चोदूंगा तो वो तुरंत घूम गयी। अब पीछे से उसके कूल्हें बहुत मस्त लग रहे थे। फिर मैंने उससे पूछा कि क्या में तुम्हारी गांड में अपना लंड डाल सकता हूँ? तो तब वो बोली कि जो चाहे करो बस मुझे मज़ा आना चाहिए। तो तब में बोला कि शुरू में थोड़ा दर्द होगा। तब वो बोली कि पता है, में ना भी करूँ तो तब भी तुम ज़बरदस्ती मेरी गांड जरूर मारोगे, वैसे में भी गांड चुदवाने का मज़ा लेना चाहती हूँ, बस मेरी गांड को आराम से मारना, तब मैंने कहा कि ठीक है।

फिर मैंने थोड़ा तेल लिया और उसकी गांड पर लगाया और कुछ अपने लंड पर भी लगाया। फिर मैंने उसकी गांड के छेद पर अपना 9 इंच लंबा और 5 इंच मोटा लंड रखा और एक जोरदार धक्का मारा। तो तब उसने अपने होंठ दबा लिए, ताकि उसकी चीख बाहर नहीं आ सके। तब मैंने देखा कि वो रो रही थी। तब मैंने उससे पूछा कि हीना क्या दर्द हो रहा है? तो रहने देते है। तो तब वो बोली कि नहीं प्लीज अपना लंड बाहर मत निकालना, अपना पूरा लंड मेरी गांड में डाल दो। फिर में भी नहीं रुका और अपना पूरा लंड बाहर करके एक जोरदार झटका मारा तो मेरा पूरा का पूरा लंड उसकी गांड में समा गया। फिर में रुका नहीं और खूब जोर-जोर से उसकी गांड मारता रहा। उसकी गांड उसकी चूत से भी ज़्यादा टाईट थी।

अब मुझे उसकी गांड मारने में बहुत मज़ा आ रहा था और अब वो भी मेरी चुदाई का मज़ा ले रही थी और ऑश, आआअहह, मारो और ज़ोर से मारो मेरी गांड, जितना चाहो मारते रहो, मुझे तुमसे चुदवाने में बहुत मज़ा आ रहा है। फिर करीब 30-35 मिनट तक उसे चोदने के बाद मैंने हीना से कहा कि मेरी जान अब में झड़ने वाला हूँ। तब वो बोली कि प्लीज मेरी गांड को अपने अनमोल रस से भर दो, में तुम्हारी बहुत एहसान मंद रहूंगी। अब इस दौरान में भी अपनी चरम सीमा पर आ गया था और खूब ज़ोर-ज़ोर से अपना लंड उसकी गांड में डालकर उसको चोद रहा था। अब वो आहह माँ, आअहह, मारो और मारो चिल्ला रही थी कि तभी में झड़ने लगा और मैंने अपना सारा रस उसकी गांड में ही डाल दिया। अब मेरे झड़ने के दौरान उसे भी मेरा रस अपनी गांड में महसूस हो रहा था। फिर जब मैंने अपना पूरा पानी उसकी गांड में निकालकर अपना लंड बाहर किया तो उसकी गांड से मेरा पानी बाहर आ रहा था।

loading...

फिर वो उठकर बाथरूम गयी और अपने कपड़े पहने और फिर मुझे किस करने लगी। फिर मैंने हीना से पूछा कि तुम तो शादीशुदा हो फिर तुम्हारी चूत से खून कैसा? तो तब वो बोली कि प्लीज किसी को नहीं बताना, मेरे पति मुझे ठीक से चोद नहीं पाते है, उनका लंड 3-4 इंच से ज़्यादा बड़ा नहीं है जिसकी वजह से वो मेरी सील भी नहीं तोड़ सके है, वो तो 1-2 मिनट में ही झड़ जाते है और में प्यासी ही रह जाती थी, तुम तो सोनिया को जानते हो, वो मेरी अच्छी फ्रेंड है। फिर जब मैंने उसे अपनी प्रोब्लम बताई, तो उसने मुझसे प्रॉमिस लिया और बोली कि तेरी प्रोब्लम ठीक कर सकती हूँ, अगर तुम मानो तो। फिर मैंने सोनिया से कहा कि में वादा करती हूँ कि यह बात मेरे सिवाए किसी को पता नहीं चलेगी। फिर उसके बाद उसने मुझे तुम्हारे और उसके रीलेशन के बारे में बताया और कहा कि तुम चाहो तो उसको पटा सकती हो और उसके लंड का मज़ा ले सकती हो। फिर में टिकट के बहाने तुमसे मिली और धीरे-धीरे तुमसे खुल गयी।

अब में उसकी बात सुनकर हैरान था, लेकिन मुझे क्या? मुझे तो चूत चाहिए थी, जो मुझे मिली और वो भी फ्रेश। फिर उसने मुझसे कहा कि जब कभी सेक्स करने का मौका मिलेगा, तो क्या तुम मुझे चोदोगे? तो तब मैंने कहा कि तुम्हें ना करने वाला कोई पागल ही हो सकता है, तुम जब भी मुझे याद करोगी में आ जाऊंगा और फिर वो मुझे किस करके चली गयी। फिर 2-3 दिन तक वो मेरे यहाँ नहीं आई, लेकिन उसके बाद जब भी हमें कोई मौका मिलता है, तो में उसे खूब चोदता हूँ, मैंने आज तक उसे कितनी बार चोदा है? यह मुझे भी याद नहीं है, लेकिन आज भी में उसे बड़े प्यार और मज़े से चोदता हूँ और वो भी मुझसे खूब चुदवाती है ।।

धन्यवाद …

इस कहानी को Whatsapp और Facebook पर शेयर करें ...

Comments are closed.