शादीशुदा लड़की की कोख भरी

0
loading...

प्रेषक : राकेश …

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम राकेश है और में पटना में रहता हूँ। मेरी उम्र 25 साल है और ये तब की बात है, जब मैंने चैटिंग करनी शुरू की थी और में चैटिंग में शेरो शायरी बहुत किया करता था। फिर एक दिन एक लेडी मुझको चैट पर मिली और उसने मुझसे पूछा कि आर यू राज द शायर। तो मैंने कहा कि हाँ तो वो बोली कि मैंने आपको कई बार शेरो शायरी करते देखा है और मुझको आपकी शायरी बहुत अच्छी लगती है और इसी तरह हमारी बातें शुरू हो गयी। वो दिल्ली की रहने वाली थी और शादीशुदा थी, लेकिन उसके कोई बच्चा नहीं था। अब हम रोज चैट करने लगे थे और फिर धीरे-धीरे शेरो शायरी से बातें आगे बढ़ने लगी।

फिर एक दिन मैंने उससे उसका बर्थ-डे का पूछा तो उसने मुझको बताया कि उसका बर्थ-डे अभी पिछले महीने में था। तो मैंने उसको हैप्पी बर्थ-डे बोला तो वो बोली कि सिर्फ़ बर्थ-डे विश करोगे, कोई गिफ्ट नहीं दोगे? तो मैंने कहा कि में इंटरनेट पर चैटिंग में तुमको क्या गिफ्ट दे सकता हूँ? तो वो तुरंत बोली कि क्या चैटिंग में किस नहीं कर सकते क्या? मुझको गिफ्ट में एक किस दो। में समझ गया कि ये किस मूड में है? फिर उस दिन से हमारी चैटिंग में कुछ कुछ सेक्स की बाते शुरू हो गयी और फिर हम साइबर सेक्स भी करने लगे। फिर एक दिन वो बोली कि क्या तुम फोन पर भी बात करते हुए ऐसे ही सेक्स की बातें कर सकते हो? और फिर उसने मुझको अपना फोन नंबर दिया तो मैंने तुरंत उसको फोन किया और फिर हमने फोन पर भी चूत लंड की बातें की और फिर धीरे-धीरे ये सिलसिला चल पड़ा और हम बिल्कुल फ्री होकर सेक्स की बातें करने लगे।

फिर मैंने एक दिन उससे पूछा कि क्या तुम्हारा मन नहीं करता कि तुम मुझको मिलो? तो वो बोली कि मेरा तो बहुत ज्यादा मन करता है कि में तुमसे मिलूं और सिर्फ़ मिलना ही ना हो मुझको तुमसे एक बहुत बड़ी गिफ्ट भी चाहिए, बोलो तुम मुझको दे सकोगे गिफ्ट? तो मैंने उससे पूछा कि क्या है वो गिफ्ट? तो वो बोली कि मेरी शादी को 5 साल हो चुके है और मुझे एक बच्चा चाहिए, जो कि मेरा पति मुझको नहीं दे पा रहा है क्योंकि उसको कोई प्रोब्लम है। तो मैंने तुरंत उसको बोला कि अगर में तुम्हारी ये कमी पूरी कर सकूँगा तो मुझको बहुत ज्यादा खुशी होगी और फिर इस तरह हम मिलने का फिक्स करने लगे। मेरी कुछ दिन के बाद दिल्ली में ही एक मीटिंग थी तो मैंने उसको बताया कि मुझको दिल्ली  आना है।

फिर उसने बोला कि ठीक है तुम्हारी जिस दिन मीटिंग होगी तुम उसके एक दिन पहले आ जाना, में तुमको एयरपोर्ट पर ही मिल जाउंगी, क्योंकि हम पहले एक दूसरे की फोटो इंटरनेट पर देख चुके थे इसलिए पहचानने की कोई प्रोब्लम होनी नहीं थी। फिर उसने बोला कि वो घर पर बोल देगी कि आज वो अपनी सहेली के साथ उसके घर पर ही रुकेगी, क्योंकि उसकी सहेली के घर पर कोई नहीं है और इस बहाने से वो मेरे साथ होटल में रुक जाएंगी और फिर इस तरह से हमारा मिलना फिक्स हो गया। फिर मेरी फ्लाइट शाम को 5 बजे दिल्ली पहुँची तो में एयरपोर्ट से जैसे ही बाहर निकला तो वो सामने ही  खड़ी थी। फिर हमने एक दूसरे को हग किया और टैक्सी में बैठ गये। फिर मैंने टैक्सी वाले को बोला कि  पास में ही किसी होटल में ले चलो। फिर हमने एक होटल में रूम लिया और रूम में आ गये और सोफे पर बैठ गये। अब वो मेरे साथ होटल में आ तो गयी थी, लेकिन उसकी शक्ल से लग रहा था कि उसको कुछ घबराहट हो रही है इसलिए मैंने उसको नॉर्मल करने के लिए उससे बातें करनी शुरू की और कॉफी ऑर्डर की तो थोड़ी देर के बाद कॉफी आ गयी।

फिर हम अगल बगल बैठकर कॉफी पीने लगे तो अचानक से मेरे मन में पता नहीं क्या आया? तो मैंने उससे पूछा कि तुमने कभी लिप कॉफी पी है? तो वो बोली कि वो क्या होती है? तो मैंने उसको बोला कि अपनी आँखे बंद करो, में दिखाता हूँ कि लिप कॉफी कैसी होती है? तो उसने तुरंत अपनी आँखे बंद कर ली। तो मैंने कॉफी का एक बड़ा सा सीप लिया और कॉफी को अपने मुँह में भरकर उसके लिप से अपने लिप लगा दिए और अपने मुँह की कॉफी धीरे-धीरे उसके मुँह में डाल दी। फिर वो भी उस कॉफी की एक- एक बूँद का मज़ा अपनी आँखे बंद करके उठाने लगी और फिर हमको पता ही नहीं चला कि कब कॉफी ख़त्म हो गयी? और फिर हम दोनों एक दूसरे के लिप्स का स्वाद लेने लगे। फिर हमारा वो किस लगभग  10 मिनट तक चला तो तभी अचानक से उसने मुझको पीछे किया। दोस्तों ये कहानी आप कामुकता डॉट कॉम पर पड़ रहे है।

loading...

अब उसकी सांसे बहुत जोर-जोर से चल रही थी और वो बोली कि मुझको फ्रेश होने जाना है और फिर वो बाथरूम में चली गयी। फिर थोड़ी देर के बाद बाथरूम का दरवाज़ा खुला, अब वो रूम में ड्रेसिंग टेबल के सामने खड़ी होकर अपने बाल ठीक करने लगी थी। फिर मैंने उसको पीछे से हग करके उसको अपनी तरफ घुमाया और हम फिर से किस में खो गये। अब में किस करते-करते उसकी गांड को अपनी मुट्ठी में दबाने लगा था, तो इससे वो बहुत गर्म हो गयी। तभी मैंने धीरे से अपना एक हाथ उसकी चूची पर रखा और उसको सहलाने लगा। तो वो बोली कि राकेश मुझको डर लग रहा है, तो मैंने उसकी बात को अनसुना करते हुए उसके ब्लाउज के हुक खोलकर उसकी साड़ी भी उतार दी। अब वो मेरे सामने सिर्फ़ पेटीकोट और ब्रा में खड़ी थी। फिर में उसकी कमर से हग करके बेड पर बैठ गया और उसकी चूचीयों को सहलाने लगा। अब उसकी आँखे बंद थी, तो तभी मैंने अपने एक हाथ से उसके पेटीकोट का नाड़ा खोल दिया तो उसका पेटीकोट भी जमीन पर आ गया।

अब वो सिर्फ़ ब्रा, पेंटी में मेरे सामने थी, तो मैंने उसको वैसे ही खड़ा रहने दिया और फिर मैंने खुद उठकर अपने सारे कपड़े उतारे और फिर उसको अपनी गोद में उठाकर बेड पर ले आया। अब हम एक दूसरे को हग करके बेड पर आ गये थे। अब मेरे हाथ अपना काम कर रहे थे, फिर मैंने उसकी ब्रा भी उतार दी, अब वो सिर्फ़ पेंटी में थी। फिर में उसके ऊपर आ गया और उसके बूब्स पीने लगा, फिर मैंने जैसे ही चूसना शुरू किया। तो वो झटके खाने लगी और मुझको हग करके और ज़ोर से अपने निप्पल पर दबाने लगी। फिर में थोड़ा उठा और उसकी पेंटी भी उतार दी और उसकी चूत को सहलाने लगा। अब मेरा 6 इंच का लंड बहुत टाईट हो चुका था। फिर इस तरह से कुछ देर तक में उसकी चूची और बूब्स से खेलता रहा। फिर में उसके मुँह की तरफ आया और उसके सिर के नीचे अपना एक हाथ डालकर उसका सिर ऊपर करके उसके मुँह में अपना लंड डाल दिया, तो मेरा लंड डालते ही उसने बहुत ज़ोर से उसको चूसना शुरू कर दिया। फिर लगभग 5 मिनट तक लंड चूसने के बाद वो मुझसे बोली कि अब मुझसे बर्दाश्त नहीं हो रहा है, अब इस मोटे लंड से मेरी चूत की प्यास बुझा दो।

फिर में तुरंत उसकी टाँगो के बीच में आ गया और उसकी दोनों टाँगे उठाकर उससे बोला कि इसको अपने हाथ से पकड़ लो और फिर मैंने अपने एक हाथ से उसकी चूत को फैलाकर उसकी चूत में ऊपर से नीचे तक अपना लंड रगड़ दिया। तो ऐसा करते ही वो बहुत ज़ोर से सस्शह, आअहह, ओह करके झटके खाने लगी और फिर बोली कि अब मत तड़पाओ मेरी जान, इसको एक ही झटके में डाल दो। तो उसके इतना बोलते ही मैंने एक ही झटके में अपना पूरा लंड उसकी चूत में डाल दिया। तो उसके मुँह से एक चीख निकल गयी और उसने अपनी दोनों टाँगो से मुझको ज़ोर से हग कर लिया। अब में भी धीरे-धीरे अपनी स्पीड बढ़ा रहा था। अब मेरी स्पीड के साथ ही उसके मुँह से और तेज सिसकारियाँ निकलने लगी थी, जिनको सुनकर मुझको और ज्यादा मज़ा आ रहा था।

loading...

फिर इसी तरह से में उसको लगभग 15 मिनट तक चोदता रहा और अब वो एक बार झड़ चुकी थी।  फिर इसके बाद मैंने अपना लंड बाहर निकालकर उसको बेड पर उल्टा लेटाया और उसके दोनों पैरो को फैलाकर नीचे से उसकी टांगो के बीच में आकर फिर से उसकी चूत में अपना लंड डाल दिया। अब इस पोजिशन में उसकी चीखे निकल रही थी, जिनको सुनकर में और ताक़त से उसको चोद रहा था, अभी तक हमारी चुदाई को लगभग 20-25 मिनट हो चुके थे। अब वो बोलने लगी थी कि बस करो, अब में मर जाउंगी, मुझसे अब तुम्हारा लंड और बर्दाश्त नहीं हो रहा है, ये मेरी चूत को फाड़ रहा है। लेकिन मैंने कुछ नहीं सुना और फिर ऐसे ही चोदते हुए मुझको लगा कि में झड़ने वाला हूँ तो मैंने उसको बोला कि में झड़ने वाला हूँ। तो वो बोली कि में 2 बार झड़ चुकी हूँ तुम अपने पानी से मेरी चूत को भर दो और इसी के साथ मेरा पानी निकल गया और में उसके ऊपर ही लेट गया। फिर थोड़ी देर के बाद हम बाथरूम में गये और फिर हमने एक साथ बाथ ली।

फिर उसके बाद हम नंगे ही आकर बेड पर बैठ गये और थोड़ी देर तक चुदाई की बातें करते रहे। अब हम दोनों को बहुत मज़ा आया था। फिर इसी तरह से चुदाई की बातें करते-करते थोड़ी देर के बाद मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया, लेकिन उसकी हालत एक चुदाई से ही खराब थी तो वो बहुत मुश्किल से तैयार हुई। फिर मैंने उसको अपनी गोद में उठाया और रूम में डाइनिंग टेबल पर लेटाकर फिर से उसको बहुत ज़ोर-जोर से चोदा और फिर इसी तरह से हम पूरी रात चुदाई का मज़ा लेते रहे। उस पूरी रात में हमने 6 बार चुदाई की और जब तक साथ रहे हमने कपड़े नहीं पहने। फिर उसके बाद में अपनी मीटिंग ख़त्म करके वापस पटना आ गया। फिर उसके कुछ दिन बाद के उसने मुझको फोन किया और वो बहुत ज्यादा खुश थी। फिर वो मुझसे बोली कि राज एक गुड न्यूज़ है तुम पापा बनने वाले हो, तुमने मुझको जिंदगी की सबसे बड़ी खुशी दे दी है और इस बात को अब 4 साल हो चुके है, अब हमारा बेटा भी 3 साल का है, अब में जब भी दिल्ली जाता हूँ, तो उसको जरूर चोदता हूँ ।।

loading...

धन्यवाद …

Comments are closed.

error: Content is protected !!