शिमला की लड़की चुदी चंडीगढ़ में

0
loading...

प्रेषक : सुमित …

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम सुमित ठाकुर है, में शिमला का रहने वाला हूँ। ये कहानी 2 साल पहले की है जब मैंने पहली बार एक प्राइवेट ऑफिस जॉइन किया था। फिर कुछ महीनों के बाद वहाँ पर एक लड़की ने जिसका नाम निधि था जॉइन किया, वो दिखने में बहुत ही सुंदर थी, उसके बूब्स का साईज़ करीब 32 का होगा। जब वो पहली बार ऑफिस आई तो वो बहुत ही गजब की लग रही थी। अब उसे देखते ही मेरे दिल ने कहा कि यार यही वो लड़की ही जिसके साथ में कुछ लव सीन क्रियेट कर सकता हूँ। वो ऑफिस में मेरे सामने वाली सीट पर बैठती थी, अब उससे मेरी ज़्यादा बात नही हो पाती थी इसलिए मैंने उसको फ़ेसबुक पर फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजी, तो उसने मेरी रिक्वेस्ट एक्सेप्ट कर ली। फिर धीरे-धीरे हमारे बीच चैट होने लगी, फिर हमने एक दूसरे का फोन नंबर एक्सचेंज किया।

फिर मैंने उसे मैसेज किया और उसे प्रपोज किया तो उसने भी हाँ कह दिया। फिर एक दिन छुट्टी वाले दिन हम घूमने गये, वो एक बहुत ही सुंदर जगह थी। फिर हमने थोड़ी देर तक बात की, फिर बात करते हुए मैंने उसे लिप पर पहली बार किस किया। तो उसने मेरा ज़्यादा रेस्पोंस नहीं दिया, उसे डर था कि कही कोई आ ना जाए इसलिए वो ज़्यादा डर रही थी। फिर मैंने भी ज़बरदस्ती नहीं की और हम वापस आ गये। फिर रात को मैंने उससे फोन पर बात की और उससे पूछा कि तुमने मेरा रेस्पोंस क्यों नहीं दिया? तो उसने कहा कि जब अगली बार अकेली जगह पर मिलेगें तो पूरा मज़ा लेगें। फिर हम ऑफिस में चुपचाप मौका पा कर किस करते, अब में उसके बूब्स को दबाता और हम दोनों बहुत मज़े करते। फिर एक दिन मैंने उसे बताया कि चंडीगढ़ में मेरे दोस्त का रूम है, वो अभी छुट्टियों में अपने घर गया हुआ है, तो क्या हम वहाँ जा कर इन्जॉय कर सकते है? पहले तो उसने मना किया, लेकिन फिर मेरे बहुत बार कहने पर वो मान गई।

फिर हम छुट्टी वाले दिन चंडीगढ़ पहुँचे और फिर हम एक ऑटो लेकर रूम पर पहुँच गये। फिर वहाँ पर मैंने मेरे दोस्त की पड़ोसी आंटी को अपना परिचय दिया और उनसे रूम की चाबी ले ली। फिर हम रूम में अंदर गये, फिर मैंने दरवाजे को अंदर से लॉक किया और फिर हम एक दूसरे को देखने लगे। हमें पहली बार अकेले में इतना टाईम मिलने वाला था। फिर हम एक दूसरे के गले लगे और ज़ोर से एक दूसरे को अपनी बाहों में दबोचा। फिर मैंने उसके लिप्स पर अपने लिप्स रख दिए और उसे किस करने लगा, क्या सॉफ्ट लिप्स थे उसके? अब हमने काफ़ी देर तक एक दूसरे को किस किया।

loading...

फिर मैंने कहा कि पहले हम अपनी थकान उतारते है और शॉवर लेते है। फिर हम एक दूसरे के कपड़े उतारने लगे, अब मैंने पहले उसका टॉप उतारा, उफफफफफफ्फ़ वो वो वाईट ब्रा में क्या मस्त लग रही थी? अब में तो उसे देखकर पागल ही हो गया था। फिर उसने मेरी शर्ट के बटन खोले और मेरी शर्ट को उतार दिया। फिर मैंने उसे बेड पर लेटाया और उसकी जीन्स का बटन खोलकर उसकी पैंट को उतार दिया, ओह माई गॉड अब वो मेरे सामने ब्रा और ब्लेक पेंटी में थी। फिर मैंने उसके लिप्स पर किस किया और उसका हाथ पकड़कर बाथरूम में ले गया। फिर मैंने शॉवर चालू किया तो अब पानी निधि के बदन पर गिरने लगा। फिर मैंने उसकी ब्रा को भी खोल दिया तो उसके बूब्स पूरे आज़ाद हो गये। फिर मैंने उसके निपल पर अपना मुँह लगा दिया और उन्हें चूसने लगा और अपने एक हाथ से उसके दूसरे बूब्स को दबाने लगा, तो वो मचल उठी। अब वो मेरे सिर को अपने बूब्स पर दबाने लगी थी, अब में बहुत एग्ज़ाइटेड हो गया और ज़ोर-जोर से उसके बूब्स चूसने लगा।

फिर मैंने उसकी पेंटी को उतार दिया, उफफफफ्फ़ अब उसकी चूत मेरे सामने थी। फिर मैंने अपना एक हाथ उसकी चूत पर रखा और उसे मसलने लगा। अब वो सिसकियां लेने लगी ऑश हम्मम्म सीयी की आवाज़े निकालने लगी। तो मैंने तभी शॉवर बंद किया और अपने जीभ उसकी चूत पर लगा दी और उसे चूसने लगा, उसकी चूत बहुत ही सॉफ्ट थी, उस पर छोटे-छोटे बाल थे। अब में उसकी चूत को चाट रहा था, तो उसने मेरा सिर अपनी चूत के बीच में जकड़ लिया और कस कर दबाने लगी। फिर मैंने उसे अपनी बाहों में उठाया और बेडरूम में ले आया और बेड पर लेटा दिया और उसके जिस्म को चूमने लगा। अब वो अभी भी आवाजे निकाले जा रही थी हमम्म ओह खा जाओ मुझे सुमित, ओह प्लीज चूसो ना, मिटा तो इस चूत की खुजली।

loading...
loading...

अब ये सब सुनकर में और ज़्यादा एग्ज़ाइटेड हो गया और में फिर से उसकी चूत को चाटने लगा। वो अब पागल हुए जा रहे थी, अब उसका बदन अकड़ रहा था। तभी में रुक गया, तभी वो ज़ोर से चिल्लाई बहनचोद क्या हो गया तुझे? अब और मत तड़पा, इतनी दूर लाया है अब मुझे चोदेगा नहीं। तभी मैंने उसके लिप्स को अपने लिप्स से लॉक किया और अपना लंड उसकी चूत पर रख दिया और उसकी चूत पर रगड़ने लगा। तो वो बोली कि प्लीज चोद दो ना अब, तभी में अपना लंड उसकी चूत में डालने लगा। उसकी चूत गीली थी, तो मेरा लंड थोड़ा सा अंदर गया, तो वो चिल्ला उठी एयाया ऑश में मर गई ऊऊउफ बाहर निकालो, मुझे बहुत दर्द हो रहा है। तो में वहीं रुक गया और उसके लिप्स को चूसने लगा। फिर में धीरे से अपना लंड उसकी चूत में डालने लगा तो वो मना करने लगी। फिर मैंने उसे कस कर दबोचा और ज़ोर से धक्का दिया और मेरा पूरा लंड उसकी चूत में डाल दिया, तो वो चिल्ला उठी आआ बहनचोद साले मार दिया।

फिर मैंने उससे कहा कि बेबी चूत को तो फटना ही होता ही, थोड़ा सब्र कर तुझे सब्र का फल मिल जाएगा। फिर में अपना लंड अंदर बाहर करने लगा, अब धीरे-धीरे वो शांत हो रही थी। फिर थोड़ी देर के बाद वो भी अपनी गांड हिलाने लगी, अब उसे भी मज़ा आने लगा था। अब वो आवाज़ निकालने लगी ओह बेबी फुक मी एयाया मज़ा आ रहा है, तुने सच कहा था सब्र का फल अब मिल रहा है। अब ये सब सुनकर में ज़ोर-जोर से धक्के लगाने लगा, वो अब अकड़ने लगी थी, तो में समझ गया कि वो झड़ने वाली है। फिर में ज़ोर-जोर से धक्के लगाने लगा, तो वो ज़ोर की आह के साथ ढीली पड़ गई। अब उसका पानी निकल चुका था, अब मैंने भी अपनी रफ़्तार तेज कर दी थी। अब मेरा पानी भी निकलने वाला था तो मैंने निधि से कहा कि मेरा होने वाला है, कहाँ निकालूं? तो वो बोली कि मेरे बूब्स पर निकाल दो, में अभी माँ नहीं बनना चाहती हूँ, में अभी बच्ची हूँ और हँसने लगी। फिर मैंने अपना सारा पानी उसके बूब्स पर गिरा दिया और हम दोनों एक दूसरे के साथ चिपक कर सो गये। फिर हम उठे और फिर हम दोनों बाथरूम में नहाने चले गये। फिर मैंने उसे वहाँ भी चोदा उफफफ्फ़ मज़ा आ गया, उसके बाद मैंने उसे कई बार चोदा वो स्टोरी में आपको बाद में सुनाऊंगा ।।

धन्यवाद …

Comments are closed.

error: Content is protected !!