सॉफ्टवेयर इंजिनियर मेरी रखैल

0
Loading...

प्रेषक : राज …

हैल्लो दोस्तों, मेरी उम्र 27 साल है, में दिखने इतना स्मार्ट नहीं हूँ, लेकिन हट्टा कट्टा हूँ। में एक औरत या लड़की की आग को 100% ठंडा कर सकता हूँ। यह बात कुछ 6-7 महीने पहले की है, में सुबह जब कंपनी में जाते ही अपना पी.सी ऑन करके अपने ई-मैल चैक करता हूँ और उसके बाद अपना कामकाज चालू करता हूँ।

फिर जैसे ही मैंने अपना पी.सी ऑन किया तो मेरा काम करने का सॉफ्टवेयर बार-बार बंद हो रहा था। फिर उस दिन में काफ़ी परेशान हुआ और फिर मेरे सीनियर ने मुझे जिस इंजिनियर से सॉफ्टवेयर बनवाया था, उसका मोबाईल नम्बर दिया और उसके घर का एड्रेस दिया। फिर मैंने उस मेडम को फोन किया, तो उसने आने से इनकार किया और वो बोली कि तुम सॉफ्टवेयर का बैकअप सी.डी मेरे पास लेकर आओ। तो तब मैंने कहा कि ठीक है, में आज रात को 9 बजे आता हूँ। तो तब उसने कहा कि नहीं 9-10 तक हमारा डिनर टाईम रहता है तुम 10 से 11 के बीच या फिर कल सुबह आ जाओ। तो तब मैंने कहा कि ठीक है, में कोशिश करता हूँ। फिर मैंने कंपनी से 8 बजे छुट्टी की और सीधा अपने घर आया और फिर घर आते ही मैंने डिनर किया और अपने पापा की बाइक लेकर उस मेम के घर गया।

Loading...

अब मुझे वहाँ पहुँचने में 10:45 हो गये थे। फिर घर के पास जाते ही मैंने मेम को कॉल किया तो वो बोली कि छठे फ्लोर पर 48 नम्बर का फ्लेट है। तो में लिफ्ट से गया और जाते ही डोरबेल बजाई तो उसने दरवाजा खोला तो मेरी जवानी ठंडी पड़ गई, क्योंकि सामने एक 35-36 की साउथ इंडियन औरत खड़ी थी, क्या फिगर था उसका? फिर में अंदर गया, तो सामने एक हॉल था, उसके साईड में 5 छोटे– बड़े कमरे थे और फिर सबसे लास्ट में जो कमरा था उस कमरे में हम लोग गये, वहाँ एक बेड और 4-5 कुर्सियां थी और उस एक टेबल पर पी.सी था। फिर में कुर्सी पर बैठ गया और वो पी.सी चालू करने लगी। तो तब मैंने कहा कि आपका नाम? तो वो बोली कि विजया और तुम्हारा। तो तब में बोला कि पंडित। फिर मैंने कहा कि इतने बड़े घर में आप अकेली रहती हो? तो तब उसने कहा कि नहीं में और मेरा बेटा और मेरी नौकरानी काली बाई। फिर तब मैंने कहा कि घर में तो कोई नजर नहीं आ रहा है। तो तब उसने कहा कि मेरा बेटा अमेरिका में है और मेरी नौकरानी 9 बजे घर का काम करके चली जाती है। तो तब मैंने कहा कि और आपके पति? तो वो जरा नाराज हो गयी। तो तब मैंने कहा कि क्या हो गया? तो वो कहने लगी वो मेरे साथ नहीं रहते है। फिर मैंने उसको बैकअप वाली सी.डी दे दी। अब रात के करीब 11:45 हो गये थे। फिर मैंने मेम से कहा कि मेम जरा जल्दी करो। तो तब मेम ने कहा कि क्यों घर पर बीवी इंतजार कर रही है क्या? तो तब मैंने कहा कि मेरी शादी नहीं हुई है। तो वो हंस पड़ी और कहने लगी कि तुमने अब तक शादी नहीं की। तो तब मैंने कहा कि हाँ नहीं की। अब वो सी.डी में सॉफ्टवेयर देख रही थी और में उसे देख रहा था, क्या बदन था उसका? दोस्तों माँ कसम, उसने नाइटी पहन रखी थी, वो कुर्सी पर बैठी थी, तो पीछे से उसकी पेंटी नजर आ रही थी। अब मेरे अंदाज से कम कम साईज 32 इंच तक होगी, ऐसा लग रहा था, पूछो मत। अब में उसे पूरी तरह से निहार रहा था। अब मेरे मुँह में से पानी टपक रहा था। तो तभी इतने में मेम ने कहा कि पंडित सॉफ्टवेयर में कम से कम 2 घंटे तो लगेंगे। तो तब मैंने हाँ कह दी। दोस्तों ये कहानी आप कामुकता डॉट कॉम पर पड़ रहे है।

Loading...

फिर थोड़ी देर के बाद में बोर हो गया और उनसे कहा कि मेम मुझे नींद आ रही है। तो तब मेम ने कहा कि वहाँ बेड पर सो जाओ, तो में झट से बेड पर सोने चला गया। अब मुझे नींद आने की वजह से जल्दी सो गया था। फिर रात में जब मेरी आँख खुली तो मैंने देखा कि मेम भी मेरे पास ही सो गयी थी, उस कमरे में छोटा बल्ब जल रहा था। अब में घबरा गया था, मेरे बदन पर पसीना आ गया था और में डर रहा था, क्योंकि मेम की नाइटी उनके पैरो से काफ़ी ऊपर थी और गले के पास के बटन खुले थे। अब में मेम को घूर रहा था। अब मेरा 5 इंच का लंड 7-8 इंच का होकर मेरी पेंट से रगड़ रहा था। फिर मैंने धीरे से उसकी टांग को टच किया, उसकी टांगे बहुत मुलायम थी और थोड़ा-थोड़ा उसकी नाइटी को ऊपर खींचा। तभी इतने में वो दूसरी तरफ पर मुड़ी तो उसकी गांड मेरे सामने आ गयी। अब में उसकी ब्लू रंग की चड्डी देखकर पागल हो गया था। फिर मैंने झट से उसकी चड्डी को खींचा तो वो जाग गयी और सीधी सो गयी थी।

अब उसका सामने वाला हिस्सा मेरे सामने आ गया था, उसकी नाभि भी बहुत मोटी और गहरी थी। अब में उस पर किस कर रहा था। वो उठकर बैठ गयी, तो मेरी तो फट गयी। अब वो मेरी तरफ गुस्से से देख रही थी। तब मैंने मेम को सॉरी कहा। तो तब मेम ने कहा कि और कुछ चाहिए हो तो माँगकर ले लो और कहा कि में जानबूझकर अपने दोनों तरफ मुड़ी थी। यह सुनकर में शैर की तरह उसके बदन पर टूट पड़ा और उसकी नाइटी फाड़ दी और उसे पूरा नंगा किया और ज़ोर-ज़ोर से किस करने लगा था। फिर मेम ने मेरा सिर पकड़कर अपनी दोनों टांगो के बीच में ले लिया। अब में मेम की लाल-लाल चूत को चाट रहा था और वो मेरा लंड चाट रही थी। अब उसकी चूत में से गम जैसा पानी आ रहा था और में वो पानी पी रहा था। अब वो पूरे जोश में थी। फिर मेम उठकर घोड़ी बन गयी और बोली कि पंडित अब देर ना कर।

फिर मैंने झट से उठकर उसकी गांड में मेरा 8 इंच वाला बड़ा लंबा चौड़ा लंड डाला। तो वो पागल सी हो गयी और गिर गयी थी। फिर तब मैंने उसे उठाकर बेड पर लेटा दिया और उसकी दोनों टागें पकड़कर अपना लंड उसकी चूत पर रखकर ज़ोर से एक झटका दे दिया। तो उसके मुँह से सिसकी निकली और वो बोली कि पंडित धीरे-धीरे चोदो। तो यह सुनकर में और भी जोश में आ गया और उसे चोदता ही रहा। फिर 40-45 मिनट तक उसको चोदने के बाद मेरे लंड में से गर्म पानी की धार उसकी चूत में ही छूट गयी और में वैसे ही उसके नंगे बदन पर सो गया। अब रात के करीब 5 बजे थे। फिर मेम बोली कि मुझे कल ऑफिस में 11 बजे जाना है तो अब आराम से सो जाते है। फिर मैंने 6 बजे फिर से एक बार मेम को चोदा। फिर सुबह उसकी नौकरानी आई, तो उसने हम दोनों के लिए चाय बनाई और मेम वॉशरूम में चली गयी और में बेड पर लेटा रहा। फिर उनके वापस आने के बाद में वॉशरूम चला गया। फिर हम दोनों फ्रेश हो गये और अपने-अपने काम पर जाने लगे। तो तब मेम बोली कि आज से तुम मेरे पास ही रहने के लिए आ जाना ।।

धन्यवाद …

Comments are closed.

error: Content is protected !!